कूरासाओ  

कूरासाओ कैरीबियन सागर में वेनीजुइला तट से लगभग 50 मील उत्तर में स्थित पश्चिमी द्वीपपुंज का एक द्वीप है। हालैंड के अधीनस्थ इस क्षेत्र के छह द्वीपों में यह सबसे बड़ा है। इस द्वीप की खोज वर्ष 1499 ई. में 'होजेदा' नामक व्यक्ति ने की थी।[1]

  • इस द्वीप की लंबाई लगभग 35 मील तथा चौड़ाई छह मील है। द्वीप का क्षेत्रफल 443 वर्ग किलोमीटर है।
  • कूरासाओ द्वीप के चारों ओर मूंगे की चट्टान मिलती हैं।
  • इस द्वीप पर 15 से 20 से.मी. तक वर्षा होती है। वर्षा की कमी के कारण घाटियों में केवल मक्का, दलहन एवं सेम की खेती होती है
  • द्वीप का प्रमुख उद्योग पेट्रोल शुद्ध करना है, जिसमें लगभग 30 से 40 प्रतिशत जनसंख्या लगी है। कच्चा तेल वेनीजुइला के माराकाबो क्षेत्र से आयात किया जाता है।
  • कूरासाओ नामक लाक्षारस का निर्माण सर्वप्रथम यहीं हुआ था, जो संतरे के छिलके से तैयार किया जाता था।
  • यहाँ का मुख्य निर्यात शुद्ध पेट्रौल (सन 1957 में 16,457,960 किलोग्राम), नमक तथा फ़ॉस्फ़ेट है।
  • 'विलेमस्टैड' इसकी राजधानी है। सेंट अन्ना का प्रसिद्ध प्राकृतिक पत्तन इसके दक्षिण पश्चिम तट पर है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कूरासाओ (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 13 अप्रैल, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कूरासाओ&oldid=609612" से लिया गया