पहेली अगस्त 2013  

फ़ेसबुक पर चर्चित पहेलियाँ

वर्ष 2013 >> जुलाई 2013   •   अगस्त 2013   •   सितंबर 2013   •   अक्तूबर 2013   •   नवंबर 2013   •   दिसंबर 2013

वर्ष 2014 >> जनवरी 2014   •   फ़रवरी 2014   •   मार्च 2014   •   अप्रॅल 2014   •   मई 2014   •   जून 2014   •   जुलाई 2014   •   अगस्त 2014   •   सितंबर 2014   •   अक्टूबर 2014   •   नवम्बर 2014   •   दिसम्बर 2014

वर्ष 2015 >> जनवरी 2015   •   फ़रवरी 2015   •   मार्च 2015   •   अप्रॅल 2015   •   मई 2015   •   जून 2015   •   जुलाई 2015   •   अगस्त 2015   •   सितंबर 2015   •   अक्टूबर 2015   •   नवम्बर 2015   •   दिसम्बर 2015

वर्ष 2016 >> जनवरी 2016   •   फ़रवरी 2016   •   मार्च 2016   •   अप्रैल 2016   •   मई 2016   •   जून 2016   •   जुलाई 2016   •   अगस्त 2016   •   सितंबर 2016   •   अक्टूबर 2016   •   नवंबर 2016   •   दिसंबर 2016

वर्ष 2017 >> जनवरी 2017   •   फ़रवरी 2017   •   मार्च 2017   •   अप्रैल 2017   •   मई 2017   •   जून 2017   •   जुलाई 2017   •   अगस्त 2017   •   सितम्बर 2017   •   अक्टूबर 2017   •   नवम्बर 2017   •   दिसम्बर 2017

वर्ष 2018 >> जनवरी 2018

Paheli-logo.png

1. निम्नलिखित में से कौन मैहर घराने से सम्बन्धित हैं?

अल्लाउद्दीन ख़ाँ
निखिल बैनर्जी
पं. रवि शंकर
उपर्युक्त सभी

2. 'तूती-ए-हिन्द' (तूतिए हिन्द) के उपनाम से कौन जाने जाते हैं?

अमीर ख़ुसरो
मिर्ज़ा ग़ालिब
ज़ियाउद्दीन बरनी
इब्नबतूता
अमीर ख़ुसरो
अमीर ख़ुसरो मध्य एशिया की लाचन जाति के तुर्क सैफ़द्दीन के पुत्र हैं। यह लाचन जाति के तुर्क चंगेज़ ख़ाँ के आक्रमणों से पीड़ित होकर बलबन (1266-1286 ई.) के राज्यकाल में शरणार्थी के रूप में भारत में आ बसे थे। इस्लाम धर्म ग्रहण करने के बावज़ूद इनके घर में सारे रीति-रिवाज हिन्दुओं के थे।ध्यान दें अधिक जानकारी के लिए देखें:- अमीर ख़ुसरो

3. महाभारत के अनुसार कौन दासी पुत्र थे?

कर्ण
विदुर
नकुल
उत्तर
महाभारत में विदुर का बड़ा ही महत्त्वपूर्ण स्थान है। परम्परा से वे एक ज्ञानी, धैर्यवान, निष्ठावान और राजनीतिज्ञ के रूप में विख्यात हैं। सत्यवती के कहने पर महर्षि व्यास द्वारा अम्बिका और अम्बालिका को नियोग कराते देखकर उनकी एक दासी की भी इच्छा हुई कि वह भी नियोग कराये और पुत्र की माता बने। उस दासी ने व्यास से नियोग कराया, जिसके फलस्वरूप विदुर की उत्पत्ति हुई। विदुर धृतराष्ट्र के मन्त्री, किन्तु न्यायप्रियता के कारण पाण्डवों के हितैषी थे। विदुर के ही प्रयत्नों से पाण्डव लाक्षागृह से जीवित बच निकलने में सफल हुए थे। उन्हें पूर्वजन्म का 'धर्मराज' कहा जाता है।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-विदुर

4. प्रधानमंत्री पद से त्यागपत्र देने वाले प्रथम व्यक्ति कौन हैं?

जवाहर लाल नेहरू
इन्दिरा गांधी
मोरारजी देसाई
चौधरी चरण सिंह
मोरारजी देसाई
मोरारजी का पूरा नाम 'मोरारजी रणछोड़जी देसाई' (प्रधानमंत्री कार्यकाल-29 फ़रवरी, 1896 से 10 अप्रैल, 1995) था। उन्हें भारत के चौथे प्रधानमंत्री के रूप में जाना जाता है। वह 81 वर्ष की आयु में प्रधानमंत्री बने थे। चौधरी चरण सिंह से मतभेदों के चलते उन्हें प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-मोरारजी देसाई

5. विश्व में केले का सबसे बड़ा उत्पादक देश कौन सा है?

मिस्र
चीन
इटली
भारत

6. महावीर ने 'जैन संघ' की स्थापना कहाँ की थी?

कुण्डग्राम
वैशाली
पावापुरी
वाराणसी
कनिंघम ने 'पावापुरी' का अभिज्ञान 'कसिया' के दक्षिण-पूर्व में 10 मील पर स्थित 'फ़ाज़िलपुर' नामक ग्राम से किया है। जैन धर्म के ग्रंथ कल्पसूत्र के अनुसार महावीर ने पावापुरी में एक वर्ष बिताया था। यहीं उन्होंने अपना प्रथम धर्म-प्रवचन किया था, इसी कारण इस नगरी को जैन धर्म के संम्प्रदाय का सारनाथ माना जाता है। महावीर स्वामी द्वारा 'जैन संघ' की स्थापना पावापुरी में ही की गई थी।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-पावापुरी

7. महाभारत का कौन सा पात्र आठ वसुओं में से एक था?

भीष्म
युधिष्ठिर
भीम
अश्वत्थामा
शरशैय्या पर भीष्म
भीष्म हस्तिनापुर नरेश शांतनु के पुत्र थे, जो आठ वसुओं में से एक थे। भीष्म के जन्म से पहले गंगा के गर्भ से जो सात पुत्र पैदा हुए थे, उन्हें उत्पन्न होते ही गंगा ने पानी में डुबो दिया था। पत्नी के इस व्यवहार को शांतनु समझ नहीं पाते थे। किंतु वे उसे टोक भी नहीं सकते थे, क्योंकि विवाह से पहले ही गंगा ने शांतनु से कह दिया था कि यदि उसे किसी भी कार्य के लिए टोका गया तो वह उन्हें त्याग कर चली जायेगी। अंत में जब आठवीं संतान उत्पन्न होने पर गंगा ने उसे भी डुबाना चाहा, तब शांतनु ने उनको ऐसी निष्ठुरता करने से रोका। गंगा वह संतान शांतनु को सौंपकर गायब हो गईं। यहीं बालक 'द्युनामक' वसु था, जो आगे भीष्म के नाम से प्रसिद्ध हुआ।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-भीष्म

8. गंगा (2,071 किलोमीटर) के बाद दूसरी सबसे लम्बी नदी कौन सी है?

यमुना
घाघरा
चम्बल
सोन
Yamuna-Mathura-7.jpg
यमुना नदी, पश्चिमी हिमालय से निकल कर उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा की सीमा के सहारे-सहारे 95 मील का सफ़र कर उत्तरी सहारनपुर (मैदानी इलाक़ा) पहुंचती है। फिर यह दिल्ली, आगरा से होती हुई इलाहाबाद में गंगा नदी में मिल जाती है, जो संगम के नाम से प्रसिद्ध है। इसकी कुल लम्बाई 1370 किलोमीटर या 852 मील है। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- यमुना नदी

9. "तमाशा" भारत के किस राज्य का प्रमुख लोक नृत्य है?

गुजरात
महाराष्ट्र
राजस्थान
पंजाब
Tamasha.jpg
तमाशा भारत के लोकनाटक का श्रृंगारिक रूप, जो पश्चिम भारत के महाराष्ट्र राज्य में 18वीं शताब्दी में शुरू हुआ।ध्यान दें विस्तार से पढ़ें:-तमाशा

10. भारतीय संविधान सभा में किस देशी रियासत के प्रतिनिधि ने भाग नहीं लिया था?

जूनागढ़
कश्मीर
हैदराबाद
मैसूर
चारमीनार, हैदराबाद
दक्षिण पू्र्वी भारत में स्थित हैदराबाद शहर आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी है। यह दक्कन के पठार पर मूसा नदी के किनारे स्थित है। हैदराबाद गोलकुंडा के क़ुतुबशाही सुल्तानों द्वारा बसाया गया था, जिनके शासन में गोलकुंडा ने वह महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया, जहाँ केवल उत्तर में मुग़ल साम्राज्य ही उससे आगे था।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- हैदराबाद

11. टीपू सुल्तान ने अंग्रेज़ों के साथ युद्ध करते हुए कब वीरगति प्राप्त की?

1857 ई.
1793 ई.
1799 ई.
1769 ई.
टीपू सुल्तान
'टीपू सुल्तान' 'भारतीय इतिहास' में 'शेर-ए-मैसूर' के नाम से प्रसिद्ध है। वह प्रसिद्ध योद्धा हैदर अली का पुत्र था। हैदर अली की मृत्यु के बाद पुत्र टीपू सुल्तान ने मैसूर की सेना की कमान संभाली थी। टीपू अपने पिता की ही भांति योग्य एवं पराक्रमी था। 'मैसूर की तीसरी लड़ाई' में भी जब अंग्रेज़ टीपू सुल्तान को नहीं हरा पाए, तो उन्होंने मैसूर के इस शेर से 'मेंगलूर की संधि' नाम से एक समझौता किया। लेकिन 'फूट डालो और शासन करो' की नीति चलाने वाले अंग्रेज़ों ने संधि करने के कुछ समय बाद ही टीपू से गद्दारी कर डाली। ईस्ट इंडिया कंपनी ने हैदराबाद के साथ मिलकर चौथी बार टीपू पर ज़बर्दस्त हमला किया और आख़िरकार '4 मई, सन् 1799 ई.' को मैसूर का शेर श्रीरंगपट्टनम की रक्षा करते हुए शहीद हुआ।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-टीपू सुल्तान

12. गुप्तकाल के सिक्कों का सबसे बड़ा ढेर कहाँ से प्राप्त हुआ है?

'बयाना' (भरतपुर) से
'देवगढ़' (झाँसी) से
'भूमरा' (मध्य प्रदेश) से
'तिगवा' (मध्य प्रदेश) से
चन्द्रगुप्त मौर्य
'बयाना' राजस्थान के भरतपुर ज़िले में स्थित एक महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस स्थान का प्राचीन नाम 'बाणपुर' कहा जाता है। इसके अतिरिक्त इसके अन्य नाम 'वाराणसी', 'श्रीप्रस्थ' या 'श्रीपुर' भी उपलब्ध हैं। 'ऊखा मन्दिर' से प्राप्त 956 ई. के एक अभिलेख से ज्ञात होता है कि यहाँ का राजा उस समय लक्ष्मण सेन था। बयाना से 1821 ई. में सोने के सिक्कों का भारी ढेर प्राप्त हुआ है, जो गुप्तकालीन हैं। इससे गुप्त शासकों की आर्थिक समृद्धि का प्रमाण मिलता है। इनमें अधिक सिक्के चन्द्रगुप्त द्वितीय के हैं। इन सिक्कों में कई नये प्रकार के सिक्के हैं, जो गुप्त शासकों की विविधता प्रमाणित करते हैं। इन सिक्कों से गुप्तवंशीय कुमारगुप्त द्वितीय के इतिहास पर नया प्रकाश पड़ता है। अनुमान लगाया है कि लगभग 540 ई. के आस-पास हूणों के आक्रमण के समय इस खज़ाने को ज़मीन में गाड़ दिया गया था।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-बयाना

13. 'तीजनबाई' किस लोक नृत्य गायन से संबंधित हैं?

पण्डवानी
यक्षगान
चेरोकान
पनिहारी
Teejan-Bai.jpg
'तीजनबाई' छत्तीसगढ़ राज्य की पहली महिला कलाकार हैं, जो पण्डवानी की कापालिक शैली की गायिका हैं। तीजनबाई नें अपनी कला का प्रदर्शन अपने देश में ही नहीं, बल्कि विदेश में भी किया है, जिसके लिए उन्हें भारत सरकार द्वारा 'पद्म भूषण' और 'पद्मश्री' की उपाधि से सम्मानित किया गया है।ध्यान देंविस्तार से पढ़ें:-तीजनबाई

14. ईडन गार्डन स्टेडियम भारत में कहाँ पर स्थित है?

मुम्बई
दिल्ली
पंजाब
कोलकाता
Eden-Gardens-Kolkata.jpg
कोलकाता नगर निगम 200 से अधिक बग़ीचों, चौराहों और खुले मैदानों की देखरेख करता है। हालाँकि शहर के भीड़ भरे हिस्सों में बहुत कम स्थान है। लगभग 3.2 किलोमीटर लम्बा और 1.6 किलोमीटर चौड़ा मैदान सबसे प्रसिद्ध खुला स्थान है। यहीं पर फुटबाल, क्रिकेट और हॉकी के प्रमुख मैदान हैं।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- कोलकाता

15. गाँधीजी के नमक सत्याग्रह की तुलना 'नेपोलियन की पेरिस यात्रा' से किस व्यक्ति ने की थी?

जवाहर लाल नेहरू
सुभाषचन्द्र बोस
एटली
लाला लाजपत राय
सुभाषचन्द्र बोस
भारत की स्वतंत्रता के लिए सुभाषचन्द्र बोस ने क़रीब-क़रीब पूरे यूरोप में अलख जगाया। बोस प्रकृति से साधु, ईश्वर भक्त तथा तन-मन से देशप्रेमी थे। महात्मा गाँधी के नमक सत्याग्रह को 'नेपोलियन की पेरिस यात्रा' की संज्ञा देने वाले सुभाषचन्द्र बोस का एक ऐसा व्यक्तित्व था, जिसका मार्ग कभी भी स्वार्थों ने नहीं रोका, जिसके पाँव लक्ष्य से पीछे नहीं हटे, जिसने जो भी स्वप्न देखे, उन्हें साधा और जिसमें सच्चाई के सामने खड़े होने की अद्भुत क्षमता थी।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-सुभाषचन्द्र बोस

16. 'एक नार पिया को भानी। तन वाको सगरा ज्यों पानी।' यह पंक्ति किस भाषा की है?

ब्रजभाषा
खड़ीबोली भाषा
अपभ्रंश भाषा
कन्नौजी भाषा
'ब्रजभाषा' मूलत: ब्रजक्षेत्र की बोली है। विक्रम की 13वीं शताब्दी से लेकर 20वीं शताब्दी तक भारत में साहित्यिक भाषा रहने के कारण ब्रज की इस जनपदीय बोली ने अपने विकास के साथ भाषा नाम प्राप्त किया और 'ब्रजभाषा' नाम से जानी जाने लगी। शुद्ध रूप में यह आज भी मथुरा, आगरा, धौलपुर और अलीगढ़ ज़िलों में बोली जाती है। इसे हम 'केंद्रीय ब्रजभाषा' भी कह सकते हैं। आधुनिक ब्रजभाषा 1 करोड़ 23 लाख जनता के द्वारा बोली जाती है और लगभग 38,000 वर्गमील के क्षेत्र में फैली हुई है।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- ब्रजभाषा

17. किस दलहन या अनाज में सर्वाधिक प्रोटीन पाया जाता है?

सोयाबीन
गेहूँ
मक्का
बाजरा
Soybean.jpg
सोयाबीन पोषक तत्वों से परिपूर्ण एवं पोषण की खान के रूप में जाना जाता है। इसलिये इसे सुनहरे बीन की उपाधि दी गई है। सोयाबीन प्रोटीन का सर्वोत्तम स्रोत हैं। इसमें प्रोटीन के अन्य सभी उपलब्ध स्रोतों की तुलना में सबसे अधिक लगभग 43.2% अच्छी गुणवत्ता की प्रोटीन एवं 20% तेल की मात्रा होती है।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- सोयाबीन

18. हड़प्पा सभ्यता की मुद्राएँ किस धातु या पदार्थ से निर्मित की जाती थीं?

तांबे
सोने
मिट्टी
कांस्य

19. स्वतंत्र भारत की प्रथम लोकसभा का अध्यक्ष कौन था?

जी. वी. मावलंकर
एम. ए. अय्यंगार
हुकम सिंह
के. एस. हेगड़े
जी. वी. मावलंकर
गणेश वासुदेव मावलंकर प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और भारत की लोकसभा के प्रथम अध्यक्ष थे। इन्हें 'दादा साहेब' के नाम से भी जाना जाता है। ध्यान देंविस्तार से पढ़ें:- जी. वी. मावलंकर

20. ओलम्पिक ध्वज पर चित्रित हरा वलय किस महाद्वीप को प्रदर्शित करता है?

यूरोप
एशिया
अफ़्रीका
ऑस्ट्रेलिया
ओलम्पिक ध्वज
ओलम्पिक ध्वज में श्वेत पृष्ठभूमि पर 5 रंगीन छल्ले यानि ओलम्पिक वलय को दर्शाया जाता है और यह ध्वज खेल के सभी समारोहों में फहराया जाता है। इस ध्वज में नीले रंग का वलय यूरोप को, काले रंग का वलय अफ़्रीका को, लाल रंग का वलय अमेरिका को, पीले रंग का वलय एशिया को और हरे रंग का वलय ऑस्ट्रेलिया को प्रदर्शित करता है। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:ओलम्पिक खेल

21. ऋग्वेद के अनुसार प्रसिद्ध 'दस राजाओं का युद्ध' (दाशराज युद्ध) किस नदी के तट पर लड़ा गया?

गंगा
ब्रह्मपुत्र
कावेरी
परुष्णी
'परुष्णी नदी' पंजाब राज्य की प्रसिद्ध रावी नदी या इरावती नदी का ही वैदिक नाम है। ऐसा जान पड़ता है कि परुष्णी नाम वैदिक काल में ही प्रचलित था, क्योंकि परवर्ती साहित्य में इस नदी का नाम इरावती मिलता है। ऋग्वेद के अनुसार परुष्णी नदी के तट पर ही तृत्स गण के राजा सुदास ने दस राजाओं की सम्मिलित सेना को हराया था। इसी कारण से यह युद्ध 'दाशराज युद्ध' के नाम से प्रसिद्ध हुआ था।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें-:परुष्णी

22. हिन्दुस्तानी संगीत का सर्वाधिक प्राचीन घराना कौन सा है?

ग्वालियर घराना
आगरा घराना
लखनऊ घराना
जयपुर घराना
ग्वालियर घराना हिंदुस्तानी संगीत का सबसे प्राचीन घराना है। हस्सू खाँ, हद्दू खाँ के दादा उस्ताद नत्थन पीरबख्श को इस घराने का जन्मदाता कहा जाता है। दिल्ली के राजा ने इनको अपने पास बुला लिया था। इनके दो पुत्र थे-कादिर बख्श और पीर बख्श। ध्यान दें अधिक जानकारी के लिए देखें:- ग्वालियर घराना

23. जम्मू से श्रीनगर का मार्ग किस दर्रे से होकर गुजरता है?

ज़ोजिला
बुर्जिल
बनिहाल
पीर पंजाल
जम्मू-श्रीनगर सड़क जवाहर सुरंग से होते हुए बनिहाल दर्रे में प्रवेश करती है, जो सर्दियों में अक्सर बर्फ़ से बंद रहता है। बनिहाल पीर पंजाल पर्वतश्रेणी का एक दर्रा है जो जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- बनिहाल दर्रा

24. 'मानसून' शब्द की व्युत्पत्ति अरबी भाषा के किस शब्द से हुई है?

मौसम
मौसमी
मौसिम
उपरोक्त में से कोई नहीं
वर्षा का एक दृश्य
भारत एक कृषि प्रधान देश है। 'मानसून' में होने वाली अच्छी वर्षा काफ़ी हद तक किसानों को समृद्ध बना देती है। भारत ही नहीं विश्व की कई प्रमुख फ़सलें मानसूनी वर्षा पर निर्भर हैं। 'मानसून' शब्द की उत्पत्ति अरबी भाषा के 'मौसिम' शब्द से हुई है। अरब के समुद्री व्यापारियों ने समुद्र से स्थल की ओर या इसके विपरीत चलने वाली हवाओं को 'मौसिम' कहा था, जो आगे चलकर 'मानसून' कहा जाने लगा। मानसून का जादू और इसका जीवन-संगीत भारतीय उपमहाद्वीप में ही फैला हो, ऐसा नहीं है। वास्तव में, यह पृथ्वी पर सबसे बड़ी जलवायु संरचना है। भूगोल पर इसका विस्तार लगभग 10 डिग्री दक्षिणी अक्षांश से लेकर 25 डिग्री उत्तरी अक्षांश तक है।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-मानसून

25. राम के चरण स्पर्श से जो शिला स्त्री बन गई, उस स्त्री का नाम क्या था?

शबरी
मन्थरा
अहल्या
कुब्जा
अहल्या का उद्धार करते श्रीराम
अहल्या महर्षि गौतम की पत्नी थी। ये अत्यंत ही रूपवान तथा सुन्दरी थी। एक दिन गौतम की अनुपस्थिति में देवराज इन्द्र ने अहल्या से संभोग की इच्छा प्रकट की। यह जानकर कि इन्द्र उस पर मुग्ध हैं, अहल्या इस अनुचित कार्य के लिए तैयार हो गई। गौतम ने कुटिया से जाते हुए इन्द्र को देख लिया और उन्होंने अहल्या को पाषाण बन जाने का शाप दे दिया। त्रेता युग में श्री राम की चरण-रज से अहिल्या का शापमोचन हुआ और पुन: वह पाषाण से ऋषि-पत्नी हुई।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें-अहल्या

26. मदर टेरेसा का पहली बार भारत आगमन कब हुआ था?

1935
1931
1929
1944
Mother-Teresa-2.jpg
मदर टेरेसा तीन अन्य सिस्टरों के साथ आयरलैंड से एक जहाज में बैठकर 6 जनवरी, 1929 को कोलकाता में ‘लोरेटो कॉन्वेंट’ पंहुचीं। वह बहुत ही अच्छी अनुशासित शिक्षिका थीं और विद्यार्थी उन्हें बहुत प्यार करते थे। वर्ष 1944 में वह सेंट मैरी स्कूल की प्रधानाचार्या बन गईं। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-मदर टेरेसा

27. झेलम नदी के किनारे प्रसिद्ध 'वितस्ता का युद्ध' किन-किन शासकों के बीच हुआ था?

चन्द्रगुप्त मौर्य एवं सेल्युकस के मध्य
धननन्द एवं चन्द्रगुप्त मौर्य के मध्य
पोरस एवं सिकन्दर के मध्य
सिकन्दर एवं आम्भि के मध्य
'वितस्ता का युद्ध' राजा पुरु (पोरस) और मकदूनिया (यूनान) के राजा सिकन्दर (अलेक्ज़ेंडर) के मध्य लड़ा गया था। इस युद्ध में राजा पुरु ने अपनी हाथी सेना पर ही अधिक भरोसा किया और युद्ध में हाथियों की संख्या घोड़ों के मुकाबले अधिक रखी। जबकि सिकन्दर ने अपने घुड़सवार तीरन्दाजों पर अधिक भरोसा किया। युद्ध में सिकन्दर की घुड़सवार सेना की तेजी पुरु की हाथी सेना पर भारी पड़ी और परिणामस्वरूप पुरु ये युद्ध हार गया।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-वितस्ता का युद्ध

28. भगवान श्रीकृष्ण के शंख का नाम क्या था?

देवदत्त
अनंतविजय
पांचजन्य
मणिपुष्पक
महाभारत में शंख-नाद करते श्री कृष्ण और अर्जुन
'भारतीय संस्कृति' में शंख को महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार शंख चंद्रमा और सूर्य के समान ही देव स्वरूप है। महाभारत के युद्ध में भी शंख का अत्यधिक महत्त्व था। शंखनाद के साथ ही युद्ध प्रारंभ होता था। जिस प्रकार प्रत्येक रथी सेनानायक का अपना ध्वज होता था, उसी प्रकार प्रमुख योद्धाओं के पास अलग-अलग शंख भी होते थे। भीष्मपर्वांतर्गत गीता उपपर्व के प्रारंभ में विविध योद्धाओं के नाम दिए गए हैं। कृष्ण के शंख का नाम 'पांचजन्य', अर्जुन का 'देवदत्त', युधिष्ठिर का 'अनंतविजय', भीम का 'पौण्ड', नकुल का 'सुघोष' और सहदेव के शंख का नाम 'मणिपुष्पक' था।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-श्रीकृष्ण

29. भारत का राष्ट्रीय वाद्य यंत्र कौन-सा है?

वीणा
सितार
बाँसुरी
तबला
सितार
'सितार' के जन्म के विषय में विद्वानों के अनेक मत हैं। अभी तक किसी भी मत के पक्ष में कोई ठोस प्रमाण नहीं प्राप्त हो सका हैं। कुछ विद्वानों के मतानुसार सितार का निर्माण वीणा के एक प्रकार के आधार पर हुआ है। भारतीयता को महत्त्व देने वाले भारतीय विद्वान् इस मत को सहज में ही मान लेते हैं। सितार को भारत का राष्ट्रीय वाद्य यंत्र होने का गौरव भी प्राप्त है। सितार बहुआयामी साज होने के साथ ही एक ऐसा वाद्य यंत्र है, जिसके ज़रिये भावनाओं को प्रकट किया जाता हैं।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-सितार

30. किस वृक्ष को मघा नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है।

पीपल
नीम
बरगद
अशोक वृक्ष
बरगद
बरगद के पेड़ को मघा नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है। मघा नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति बरगद की पूजा करते है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति अपने घर में बरगद के पेड़ को लगाते है। बरगद भारत का राष्‍ट्रीय वृक्ष है। बरगद को बर, बट या वट भी कहते हैं। बरगद मोरेसी या शहतूत कुल का पेड़ है। ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-बरगद

31. राम और हनुमान का मिलन किस पर्वत के पास हुआ था?

ऋष्यमूक
गंधमादन
कैलास
पारसनाथ
राम-हनुमान मिलन
वाल्मीकि रामायण में वर्णित वानरों की राजधानी किष्किंधा के निकट 'ऋष्यमूक पर्वत' स्थित था। ऋष्यमूक पर्वत रामायण की घटनाओं से सम्बद्ध दक्षिण भारत का एक पवित्र पर्वत है। यहाँ विरूपाक्ष मन्दिर के पास से ऋष्यमूक पर्वत के लिए मार्ग जाता है। यहीं पर हनुमान की भेंट श्री राम से हुई, जिनके द्वारा सुग्रीव और राम की मित्रता हुई। यहाँ तुंगभद्रा नदी धनुष के आकार में बहती है। सुग्रीव किष्किंधा से निष्कासित होने पर अपने भाई बालि के डर से इसी पर्वत पर छिप कर रहता था।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-ऋष्यमूक

आपके कुल अंक है 0 / 0



पहेली जुलाई 2013 Arrow-left.png पहेली अगस्त 2013 Arrow-right.png पहेली सितंबर 2013

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पहेली_अगस्त_2013&oldid=612427" से लिया गया