मुड़वारा (कटनी)  

मुड़वारा एक शहर, जो मध्य प्रदेश राज्य, मध्य भारत में महानदी की सहायक नदी कटनी के दक्षिणी तट पर अवस्थित है। 'कटनी' भी कहलाने वाला यह शहर एक रेल जंक्शन और अग्रणी माल स्टेशन व व्यापार का केंद्र है। यह पूर्वी रेलवे, बंगाल-नागपुर रेलवे और ग्रेट इंडिया पेनिन्स्युलर रेलवे का जंक्शन है।[1]

इतिहास

पहले मुड़वारा एक धनी ब्राह्मण परिवार की जागीर था। इस शहर का नामकरण 'मुंड' (सिर) के आधार पर हुआ है, जो इस स्थान पर हुए एक युद्ध में परिवार के किसी पुरखे का सिर कटकर गिरने की याद में रखा गया था। यहां 1874 में नगरपालिका का गठन हुआ। मुड़वारा में कोई चुंगी नहीं है।

व्यापार

मुड़वारा में एक विशाल बाज़ार है, जहाँ काफ़ी मात्रा में खाद्यान्न, आलू, मसाले, लाख, चूना और सपाट पत्थरों का व्यापार होता है। चूना पत्थर निकालने के 16 स्थानों को खदान घोषित कर दिया गया है और वहाँ यह उद्योग तेज़ी से विकसित हो रहा है। चूने के भट्टे, बलुआ पत्थर व मुल्तानी मिट्टी की खदानें, ओल्फ़र्ट धात्विक पेंट बनाने की हाइड्रोलिक मिल, आटा मिल और एक शराब कारख़ाना यहाँ के अन्य उद्योगों में शामिल हैं। सफ़ेदी के लिए कटनी के चूने को सबसे अच्छा माना जाता है। यहाँ ग्रामोफ़ोन डिस्क निर्माण और पोर्सलीन का कारख़ाना लगाने की भी योजना है। निकट ही बॉक्साइट और चूना पत्थर की महत्त्वपूर्ण खदानें हैं।

जनसंख्या

मुड़वारा में अन्य शैक्षिक संस्थानों सहित एक औद्योगिक विद्यालय भी है। वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार नगर निगम क्षेत्र की जनसंख्या 1,86,738 तथा कटनी ज़िले की जनसंख्या लगभग 10,63,689 थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारत ज्ञानकोश, खण्ड-4 |लेखक: इंदु रामचंदानी |प्रकाशक: एंसाइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली और पॉप्युलर प्रकाशन, मुम्बई |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 394 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मुड़वारा_(कटनी)&oldid=495978" से लिया गया