मुरैना  

मुरैना मध्य प्रदेश राज्य, मध्य भारत का एक नगर, जो मुरैना ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय है। यह 'पेच मुरैना' भी कहलाता है। मुरैना एक प्रमुख कृषि व्यापार केंद्र है। यह रेल तथा 'राष्ट्रीय राजमार्ग' से ग्वालियरआगरा से जुड़ा हुआ है। तेल मिल और सूती वस्त्रों की बुनाई यहां के प्रमुख उद्योग हैं।

  • उत्तरी मध्य प्रदेश में स्थित मुरैना चंबल घाटी का प्रमुख ज़िला है। यह ग्वालियर नगर से लगभग 46 कि.मी. की दूरी पर है।
  • 5000 वर्ग कि.मी. क्षेत्र में फैले इस ज़िले से चंबल, कुंवारी, आसन और सांक नदियां बहती हैं।
  • पर्यटन के लिए आने वालों के देखने के लिए यहां अनेक दर्शनीय स्थल हैं। इन दर्शनीय स्थलों में सिहोनिया, पहाड़गढ़, मीतावली, नूराबाद, सबलगढ़ का क़िला और राष्ट्रीय चम्बल वन्य जीव अभयारण्य प्रमुख हैं। यहां एक पुरातात्विक संग्रहालय और गैलरी भी देखी जा सकती है।
  • 11,586 वर्ग कि.मी. क्षेत्रफल वाले मुरैना ज़िले का गठन 1948 में हुआ था और इसमें भूतपूर्व शिवपुर आदि रियासतों को शामिल किया गया था।
  • चंबल नदी के निचले बेसिन में स्थित मुरैना उत्तर दिशा में कछारी मैदान से युक्त है। यह क्षेत्र कई तंग घाटियों से पटा हुआ है और इसके दक्षिण में वन क्षेत्र है।
  • गेहूँ और तिलहन यहाँ की मुख्य फ़सलें हैं तथा यहां निर्माण में काम आने वाले पत्थारों का खनन होता है।
  • मुरैना में एक सीमेंट कारख़ाना है और शिवपुर यहां का महत्त्वपूर्ण व्यापार केंद्र है।
  • इस शहर में 'जीवाजी विश्वविद्यालय' से संबद्ध कई महाविद्यालय हैं।
  • वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार यहाँ की जनसंख्या, नगर निगम क्षेत्र 1,50,890 तथा ज़िला कुल 15,87,264 थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मुरैना&oldid=501913" से लिया गया