अंकधारी  

अंकधारी अर्थात् 'तप्त मुद्रा' के चिह्न धारण करने वाला। इस सम्प्रदाय को मानने वाले लोग 'शंख', 'चक्र', 'त्रिशूल' आदि के साम्प्रदायिक चिह्नों को गरम धातु से अपने शरीर पर छपवाते हैं।

  • अंकधारी भगवान विष्णु के उपासक होते है, जो 'तप्त मुद्रा' के चिह्न शरीर पर छपवाते हैं।
  • इस प्रथा का महत्व 'रामानुज सम्प्रदाय' में अधिक है और द्वारका इसका केन्द्र माना गया है।
  • दक्षिण में भगवान शंकर के भक्त भी त्रिशूल या शिवलिंग के चिह्न शरीर पर धारण करते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंकधारी&oldid=612092" से लिया गया