अपलेशियन पर्वत श्रेणी  

अपलेशियन पर्वत श्रेणी

अपलेशियन पर्वत श्रेणी उत्तरी अमरीका की पर्वत श्रेणी है, जिसका कुछ भाग कनाडा में और अधिकांश संयुक्त राज्य में है। यह उत्तर में न्यूफाउंडलैंड से गैस्पे प्रायद्वीप और न्यू ब्रंजविक से होकर दक्षिण-पश्चिम की ओर मध्य अलाबामा तक 1,500 मील की लंबाई में फैली है। इस पर्वतमाला की चौड़ाई उत्तर में 250 मील से लेकर दक्षिण में 150 मील तक है। इसकी समुद्र तल से औसत ऊँचाई साधारण है और इसका उच्चतम शिखर ब्लैक पर्वत पर स्थित माउंट माइकेल (6,711 फुट) है। अपलेशियन के शिखर साधारणत: गुंबदाकर हैं, जिनमें रॉकी पर्वत या पश्चिमी संयुक्त राज्य के अन्य नवीन पर्वतों की भाँति नुकीलेपन का अभाव है।[1]

भू-वैज्ञानिक इतिहास

इस पर्वत प्रणाली का भू-वैज्ञानिक इतिहास अत्यंत जटिल है। इसके मोलिक उत्थान[2] और भंजन (फ़ोल्डिंग) की क्रिया पुराकल्प[3] में, विशेषकर गिरियुग[4] में आरंभ हुई। भंजन-क्रिया तीव्रतापूर्वक पश्चिम से पूर्व की ओर बढ़ती गई, जिसके फलस्वरूप पूर्वी क्षेत्र भंजन तथा विभंजन[5] द्वारा अधिक प्रभावित हुए हैं। इस महत्वपूर्ण गिरि-निर्माण-काल के पश्चात्‌ अपलेशियन प्रदेश क्रमश: अपक्षरण और उत्थान कालों से प्रभावित होता रहा है। निकट पूर्वकाल में, संभवत: तृतीयक कल्प[6] के अंत में, इस प्रदेश ने एक निम्न स्तरीय प्राचीन अपक्षरित मैदान[7] का रूप धारण कर लिया। इसके पश्चात्‌ पुनरुत्थान के कारण समुद्र तल से ऊँचाई में वृद्धि हुई और फलस्वरूप नदियों में महत्वपूर्ण ऊर्ध्वाधर अपक्षरण हुआ। धरातलीय शिलाओं की कठोरता सर्वत्र समान न होने के कारण यह अपक्षरण असमान गति से होता रहा और परिणामस्वरूप वर्तमान काल में दृष्टिगोचर विविध भूदृश्यों की उत्पति हुई।

विभाजन

भूम्यकारीय दृष्टि से अपलेशियन श्रेणी तीन समांतर भागों में विभक्त हो जाती है, जो क्रमानुसार पश्चिम से पूर्व की ओर इस प्रकार है[1]-

  1. अलधनी-कंगरलैंड क्षेत्र अथवा अपलेशियन पठार, जो मुख्यत: क्षैतिज जलज शिलाओं द्वारा निर्मित एक बहुशाखा युक्त अपक्षरित पहाड़ी प्रदेश है, इसका उत्तरी भाग हिमनदियों के द्वारा प्रभावित हुआ है।
  2. मध्यस्थ 'रीढ़ तथा घाटी खंड'[8], जहाँ श्रंखलाओं और घाटियों का समांतर क्रम अत्यधिक भंजित शिलाओं पर स्थित है, यहाँ घाटियों में सबसे अधिक महत्वपूर्ण 'महान्‌ घाटी' है, जो न्यूयॉर्क से अलाबामा तक फैली है।
  3. ब्लू रिज क्षेत्र जो आग्नेय और परिवर्तित मिश्रित मणिभीय शिलाओं की अपक्षरित पहाड़ियों और नीचे पर्वतों का क्रम है, इसके अंतर्गत पीडमॉण्ट पठार भी आता है।

प्रपात रेखा

अपलेशियन प्रणाली के पूर्व में अटलांटिक समुद्रतटीय मैदान स्थित है। अपलेशियन से पूर्व की ओर प्रवाहित नदियाँ पीडमॉण्ट पठार से प्रपातों के रूप में उस मैदान में उतरती हैं। इन प्रपातों को मिलाने वाली कल्पित रेखा को 'प्रपात रेखा' कहते हैं। जलशक्ति की विशेष सुविधा के करण प्रपात रेखा के नगर महत्वपूर्ण औद्योगिक केंद्र हैं, जैसे- फिलाडेलफिया, बाल्टीमोर, इत्यादि।

शिलाएँ

अपलेशियन प्रदेश की शिलाएँ दो प्राकृतिक भागों में विभक्त हो जाती हैं-

  1. प्राचीन (कैंब्रियन-पूर्व) मणिभीय शिलाएँ, जैसे- संगमरमर, शिस्ट, नाइस, ग्रैनाइट, इत्यादि।
  2. पुराकल्पीय अवसादों[9] का एक विशाल क्रम, जिसके अंतर्गत कैंब्रियन से लेकर गिरियुग, शेल, चूने का पत्थर और कोयला। परंतु स्थानीय परिवर्तनों के कारण शेल स्लेट में और विटयूमिनस कोयला ऐंथ्रासाइट में[10] या ग्रैफाइट में परिवर्तित हो गया है। अपलेशियन के मुख्य खनिज कोयला ओर लोहा हैं।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 अपलेशियन पर्वत श्रेणी (हिन्दी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 20 फरवरी, 2015।
  2. अपलिफट
  3. पैलिओज़ोइक
  4. परमियन युग
  5. फॉल्डिग
  6. टर्शियरी एरा
  7. लो ओन्ड-एज एराज़्हनल प्लेन
  8. रिज ऐंड वैली सेक्शन
  9. पैलियोजोइक सेडिमेंट्स
  10. जैसे उत्तरी पेनसिलवेनिया में

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अपलेशियन_पर्वत_श्रेणी&oldid=609579" से लिया गया