रामगिरि, छत्तीसगढ़  

Disamb2.jpg रामगिरि एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- रामगिरि (बहुविकल्पी)

रामगिरि छत्तीसगढ़ के सरगुजा ज़िले[1] में लक्ष्मणपुर से 12 मील की दूरी पर स्थित एक पहाड़ी है, जिसे 'रामगढ़' कहा जाता है।

  • इस पहाड़ी की गुफ़ाओं में अनेक भित्तिचित्र प्राप्त हुए हैं।
  • एक गुफ़ा में ब्राह्मी अभिलेख भी मिला है, जिससे इसका निर्माण काल डॉ. ब्लाख के मत से तीसरी शती ई. पू. जान पड़ता है।[2]
  • कहा जाता है कि इसी स्थान पर 'उग्रादित्याचार्य' ने अपने वैद्यक ग्रंथ 'कल्याणकारक' की रचना की थी। इसमें शायद इन्हीं अलंकृत चैत्य गुहाओं का उल्लेख है।
  • कुछ लोगों के मत में कालीदास के 'मेघदूत' की रामगिरि यही है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भूतपूर्व सरगुजा रियासत, मध्य प्रदेश
  2. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 788 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रामगिरि,_छत्तीसगढ़&oldid=517100" से लिया गया