अष्टसखी  

अष्टसखी श्रीराधा जी की वे आठ श्रेष्ठ सखियाँ थीं, जिन्हें राधा जी सबसे अधिक मानती और महत्त्व देती थीं।

  • राधा जी की परम श्रेष्ठ सखियाँ आठ मानी गयी हैं, जिनके नाम निम्नलिखित हैं-
  1. ललिता
  2. विशाखा
  3. चम्पकलता
  4. चित्रा
  5. सुदेवी
  6. तुंगविद्या
  7. इन्दुलेखा
  8. रंगदेवी
  9. सुदेवी


  • उपरोक्त सखियों में से 'चित्रा', 'सुदेवी', 'तुंगविद्या' और 'इन्दुलेखा' के स्थान पर 'सुमित्रा', 'सुन्दरी', 'तुंगदेवी' और 'इन्दुरेखा' नाम भी मिलते हैं।


इन्हें भी देखें: राधा एवं कृष्ण

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अष्टसखी&oldid=619102" से लिया गया