उपानन्द  

उपानन्द श्रीकृष्ण के पालक पिता नंद के ज्येष्ठ भ्राता थे। इनका निवास ब्रजमण्डल के सहार नामक स्थान पर था।

  • नंदबाबा के बड़े भाई उपानन्द परम बुद्धिमान और सब प्रकार से महाराज नन्द के परामर्शदाता थे।
  • उपानन्द जी श्रीकृष्ण को अपने प्राणों से भी अधिक प्यार करते थे। इन्हीं उपानन्द के पुत्र सुभद्र थे, जिन्हें श्रीकृष्ण अपने सहोदर ज्येष्ठ भ्राता के समान आदर करते थे।


इन्हें भी देखें: कोकिलावन, ब्रज, कृष्ण एवं मथुरा


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=उपानन्द&oldid=550365" से लिया गया