धेनुकासुर  

धेनुकासुर अथवा 'धेनुक' हरिवंशपुराण के अनुसार एक राक्षस था, जिसका वध श्रीकृष्ण के भाई बलराम द्वारा हुआ था।

  • अपनी बाल्यावस्था में जब कृष्ण तथा बलराम सखाओं के साथ तालवन में फल खाने गये, तब असुर धेनुकासुर ने गधे के रूप में उन पर हमला किया।
  • बलराम ने धेनुकासुर के पैर पकड़कर और घुमा-घुमाकर पेड़ पर पटक दिया, जिससे उसके प्राण निकल गये।
  • राक्षस धेनुकासुर का शव वहीं वन में एक वृक्ष पर लटका दिया गया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=धेनुकासुर&oldid=475657" से लिया गया