एरण्डपल्ली  

गुप्त सम्राट समुद्रगुप्त की प्रयाग प्रशस्ति में एरण्डपल्ली के राजा दमन के समुद्रगुप्त द्वारा पराजित होने का उल्लेख है-

'कौसलक महेन्द्र, महाकान्तार, व्याध्रराज, कौसलक मंटराज, पैष्ठपुरक महेन्द्र, गिरिकोट्टूरक स्वामिदत्त, एरंडपल्लक दमन-प्रभृति सर्वदक्षिणपथराजागृहणमोक्षानुग्रहजनितप्रतापोन्मिश्र महाभाग्यस्य...'

एरण्डपल्ली नगर का अभिज्ञान ज़िला विशाखापत्तनम[1] आंध्र प्रदेश में स्थित इसी नाम के स्थान के साथ किया गया है। पहले कुछ विद्वानों ने पूर्व खानदेश में स्थित एरंडोल को ही एरंडपल्ली मान लिया था। यह मत अब ग्राह्य नहीं है।




  1. प्राचीन विजिगापट्टम्

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 110-111| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=एरण्डपल्ली&oldid=628549" से लिया गया