कुम्भास्वामी मन्दिर  

कुम्भास्‍वामी मन्दिर चित्तौड़गढ़ क़िला, राजस्थान में स्थित है। मूल रूप से यह मन्दिर भगवान विष्णु के शूकर अवतार 'वराह' को समर्पित है। मन्दिर का निर्माण 8वीं शताब्‍दी में करवाया गया था।

  • महाराणा कुम्भा (1433-68 ई.) द्वारा इस मन्दिर का बड़े पैमाने पर जीर्णोद्धार किया गया था।
  • मन्दिर एक ऊँचे अधिष्‍ठान पर निर्मित है तथा इसमें एक गर्भगृह, एक अन्‍तराल, एक मंडप, एक अर्द्ध मंडप तथा एक खुला प्रदक्षिणा पथ है।
  • इस मन्दिर के पृष्‍ठ भाग के मुख्‍य आले में भगवान वराह की मूर्ति दर्शाई गई है।
  • मन्दिर के सामने एक छतरी के नीचे गरुड़ की मूर्ति है।
  • उत्‍तर में एक लघु मंदिर है, जिसे मीरा मन्दिर के नाम से जाना जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कुम्भास्वामी_मन्दिर&oldid=306376" से लिया गया