बैराठ जयपुर  

बैराठ (वैराट अथवा विराट भी) जयपुर से 86 किमी दूर, शाहपुरा-अलवर मार्ग पर स्थित है। बैराठ प्राचीन धरोहर को संजोये हुए एक ऐतिहासिक स्थल है।

  • महाभारत काल में यह मत्स्य जनपद की राजधानी था।
  • महाभारत के अनुसार पांडवों ने यहाँ पर अपना एक वर्ष का अज्ञात वास व्‍यतीत किया था।
  • बैराठ के समीप पहाडियों पर भव्‍य बौद्ध मठ के भी अवशेष मिले हैं।
  • यह अवशेष बौद्ध अनुयायियों के लिये पर्यटन की असीम संभावनाएं समेटे हुए है।
  • बैराठ के मौर्य, मुग़लराजपूत समय के स्मृतिचिह्न भी है।
  • मुग़ल यहाँ शिकार के लिए आया कारते थे।
  • अकबर द्वारा निर्मित एक बाग़ीचा और जहाँगीर द्वारा निर्मित 'चित्रित' छतरियों व दीवारों से युक्त असाधारण इमारत अन्य आकर्षण है।

इन्हें भी देखें: विराट, विराट नगर, विराट पर्व महाभारत एवं मत्स्य महाजनपद

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बैराठ_जयपुर&oldid=266468" से लिया गया