मध्यमेश्वर, वाराणसी  

मध्यमेश्वर, वाराणसी

हिमालय के पहाड़ पर स्थित शिवलिंग का प्रतिरूप मध्यमेश्वर स्वयंभू लिंग हैं। जो काशी क्षेत्र के नाभि केन्द्र के रूप में वर्णित हैं। पद्म पुराण के अनुसार मध्यमेश्वर वह केन्द्र हैं जिसके पांच कोश लगभग 17.600 किलोमीटर वृत्त बनता है वह क्षेत्र काशी है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मध्यमेश्वर,_वाराणसी&oldid=575726" से लिया गया