केदारेश्वर, वाराणसी  

केदारेश्वर, वाराणसी

द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक केदारेश्वर लिंग (चमोली, उत्तराखण्ड) में स्थित है। उनके स्वरूप काशी में केदारघाट पर स्थापित है। कथा के अनुसार राजा मान्धाता के काफ़ी वृद्ध होने पर उन्हें प्रतिदिन दर्शन देने के लिए काशी में केदारेश्वर प्रकट हुए। मान्यता के अनुसार विश्वेश्वर के वर्तमान मंदिर की अपेक्षा केदार मंदिर काफ़ी प्राचीन है। केदारेश्वर के दर्शन पूजन से भक्तों को पुण्य फल की प्राप्ति होती है। चैत्र कृष्ण चतुर्दशी को व्रत कर अगले दिन सुबह केदार की पूजा अर्चना बहुत फलदायी होता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=केदारेश्वर,_वाराणसी&oldid=574348" से लिया गया