मानस मंदिर, वाराणसी  

तुलसी मानस मंदिर, वाराणसी

मानस मंदिर वाराणसी में स्थित दुर्गाकुण्ड मंदिर से ही कुछ दूरी पर भव्य मंदिर है। सफेद संगमरमर से निर्मित इस मंदिर में विदेशी पर्यटक भी आते हैं। तुलसी मानस मंदिर नाम से प्रसिद्ध इस मंदिर का निर्माण 1964 में कलकत्ता के एक व्यापारी ने कराया था। मंदिर के आस-पास सुन्दर उद्यान है जो इसकी खूबसूरती में चार चांद लगाता है। मंदिर में भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान जी की मूर्ति के अतिरिक्त अन्य देवी-देवताओं के चलायमान प्रतिमा भी स्थापित है। मंदिर की दीवारों पर तुलसीदास कृत रामचरितमानस की चौपाईयां अंकित हैं। मंदिर में सुबह शाम श्रद्धालुओं की भीड़ ज्यादा रहती है। वहीं सावन महीने में तो दर्शनार्थियों का तांता लगा रहता है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मंदिर (हिंदी) काशी कथा। अभिगमन तिथि: 10 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मानस_मंदिर,_वाराणसी&oldid=575732" से लिया गया