महादेवा मन्दिर बाराबंकी  

महादेवा मन्दिर बाराबंकी ज़िला, उत्तर प्रदेश में घाघरा नदी के तट पर महादेवा गाँव में है। महादेवा को भगवान शिव के भक्तों और 'काँवरियों की तीर्थस्थली' के नाम से भी जाना जाता है। महादेवा मन्दिर एक अत्यंत प्राचीन शिव मंदिर है। भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर में बम-भोले और बम-बम भोले की गूँज सदा मन्दिर परिसर के चारों ओर गूँजती रहती है।

  • प्रत्येक वर्ष फाल्गुन मास में आने वाली शिवरात्रि के अवसर पर लाखों की संख्या में भक्त महादेवा मन्दिर में शिवलिंग पर जल चढ़ाते के लिए आते हैं।
  • यह माना जाता है कि महाभारत काल से पहले भगवान शिव ने दुबारा से इस पृथ्वी को बनाया था। यहीं पर शिव का प्रसिद्ध 'लोधीश्‍वर मन्दिर' भी है, जो काफ़ी पुराना है। इस मन्दिर का नाम एक ब्राह्मण लोधीराम के 'लोधी' और भगवान शिव के 'ईश्वर' शब्द को जोड़कर रखा गया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=महादेवा_मन्दिर_बाराबंकी&oldid=575727" से लिया गया