सिक्किम की कृषि  

सिक्किम की कृषि

तिस्ता नदी को सिक्किम की जीवन रेखा कहा जाता है। सिक्किम मूलत: कृषि प्रधान है। राज्य की 64 प्रतिशत से अधिक जनसंख्या जीवनयापन के लिए कृषि पर ही निर्भर है। सिक्किम में कृषि योग्य भूमि लगभग 1,09,000 हेक्टेयर है। यह कुल भौगोलिक क्षेत्र का 15.36 प्रतिशत है। कृषक सामान्यत: मिलीजुली फ़सलें उगाते हैं। मक्का, चावल, गेहूँ, आलू, बड़ी इलायची, अदरक और संतरा यहाँ की प्रमुख फ़सलें हैं। देश में बड़ी इलायची का सबसे अधिक उत्पादन करने वाला राज्य सिक्किम है। इसके अधिकांश भू-भाग में इलायची का उत्पादन होता है। अदरक, आलू, संतरा तथा गैर-मौसमी सब्जियाँ यहाँ की अन्य नकदी फ़सलें हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सिक्किम_की_कृषि&oldid=467811" से लिया गया