हाइपर प्लेन  

हाइपर प्लेन भारत की अंतरिक्षीय प्रौद्योगिकी के अंतर्गत चतुर्थ पीढ़ी का प्रक्षेपण यान है। यह परम्परागत प्रक्षेपण यान पे-लोड के रूप में ईधन एवं ऑक्सीजन ले जाते हैं। हाइपर प्लेन को लगभग 100 बार पुन: इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • यह यान 25 कि.मी. की दूरी के बाद वातावरणीय ऑक्सीजन को द्रवित करने लगता है। इसमें रेमजेट तकनीक का प्रयोग करता है।
  • वायुमंडल में हाइपर प्लेन एक वायुयान है, जबकि बाह्य अंतरिक्ष में यह एक रॉकेट है।
  • हाइपर प्लेन अपनी पे लोड क्षमता, लगभग तीन गुणा परम्परागत हवाई पट्टी से भी प्रक्षेपित किया जा सकता है।
  • एक बार में एक से अधिक उपग्रह हाइपर प्लेन द्वारा प्रक्षेपित किये जा सकते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=हाइपर_प्लेन&oldid=298518" से लिया गया