अल्पई  

अल्पई केरल स्थित वह स्थान है, जो स्थिर जल नौकायन मार्गों का प्रमुख केंद्र है।

  • अल्पई से कोल्लम, चंगानचेरी, कोट्टायम एवं कोच्चि तक स्थिर जल नौकायन का आनंद लिया जा सकता है।
  • यहाँ से कुछ दूर स्थित चंपाकुलम में प्रसिद्ध सेंट मैरी चर्च स्थित है।
  • 32 किलोमीटर दूर स्थित मन्नार साला के नागराज मंदिर में सर्प देवता के 30,000 रूपों को अंकित किया गया है।
  • पाईपद नौका दौड़ के लिए प्रसिद्ध स्थल है।
  • हरिपद में केरल का सबसे प्राचीनतम एवं प्रसिद्ध सुब्रमण्यम मंदिर है।
  • अंबल पूजा कृष्ण मंदिर और करुमाडी बुद्ध की प्रतिमा के लिए प्रसिद्ध है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अल्पई&oldid=623089" से लिया गया