आर. नागास्वामी  

आर. नागास्वामी

रामचंद्रन नागास्वामी (अंग्रेज़ी: Ramachandran Nagaswamy, जन्म- 10 अगस्त, 1930, मद्रास) भारतीय पुरातत्त्वविद्, एपिग्राफिस्ट तथा इतिहासकार हैं। 2018 में उन्हें भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार 'पद्म भूषण' से सम्मानित किया गया था।

  • आर. नागास्वामी को बांग्लादेश के संस्कृति मंत्री के.एम. खालिद द्वारा ढाका में आयोजित 'रजत जयंती अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन' में सम्मानित किया गया था। कला, पुरातत्त्व, इतिहास और संस्कृति में उनके योगदान के लिए उन्हें सम्मानित किया गया था।
  • 'जर्नल ऑफ़ बंगाल आर्ट' का 'सिल्वर जुबली वॉल्यूम' आर. नागास्वामी को समर्पित था।
  • आर. नागास्वामी ने 'तमिलनाडु पुरातत्व विभाग' के संस्थापक-निदेशक के रूप में कार्य किया है।
  • वह मंदिर के शिलालेखों और तमिलनाडु के कला इतिहास पर अपने काम के लिए प्रसिद्ध हैं।
  • 2018 में उन्हें भारत के तीसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार 'पद्म भूषण' से सम्मानित किया गया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=आर._नागास्वामी&oldid=640014" से लिया गया