गिलूंड  

गिलूंड राजस्थान में उदयपुर के पास बनास नदी के किनारे पर स्थित एक ऐतिहासिक स्थान है।

  • गिलूंड से एक ताम्रश्मीय संस्कृति के प्रचुर प्रमाण मिले हैं, जो बनास संस्कृति के नाम से प्रसिद्ध हैं।
  • यहाँ का टीला 1500x1300 फुट का है।
  • साधारणतः घर गारे और पत्थर के बने थे।
  • नींवों में पत्थर का प्रयोग होता था।
  • बड़ी इमारतों के अवशेष अधिक मिले हैं।
  • पत्थरों की नींव पर भट्टे में पकायी गयी ईटों की एक 36' की खुली व एक 100'x30' की एक विशाल संरचना मिली है, जिसका क्या उपयोग था।
  • अभी तक पता नहीं चल सका है।
  • पकी हुई ईंटों का साक्ष्य भी मिला है।
  • मुख्यतः मृद्भाण्ड काले और लाल रंगों में मिले हैं, जिनमें तरह-तरह के रेखीय और बिन्दुदार सफ़ेद डिजाइन बने हैं।
  • अन्य प्रकार के मृद्भाण्ड भी मिले हैं।
  • ताँबे का प्रयोग व्यापक पैमाने पर होता था।
  • इस सभ्यता का समय 1700-1300 ई.पू. निर्धारित किया गया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गिलूंड&oldid=254853" से लिया गया