रंगमहल (भीलवाड़ा)  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"

रंगमहल भीलवाड़ा ज़िला, राजस्थान का एक प्राचीन ऐतिहासिक स्थान है। इस प्राचीन टीले के उत्खनन से कुषाण युगीन राजस्थान के ग्राम्य जनजीवन की महत्त्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होती है।

  • रंगमहल सरस्वती एवं दृषद्वती नदी के काँठे में स्थित है।
  • यहाँ पर 'स्वीडिश आर्कियोलोजिकल एक्सपेडीशन टू इण्डिया' द्वारा श्रीमती हन्नारीड के नेतृत्व में 1952-1954 के बीच उत्खनन कार्य सम्पन्न हुआ था।
  • इस ऐतिहासिक स्थान से प्राप्त मृद्पात्र गहरे लाल, गुलाबी तथा कहीं-कहीं पीलापन लिए हुए हैं।
  • इन मृद्पात्रों में लोटे, तश्तरी, प्याले, गुलाबपाश आदि प्रमुख हैं, जिन पर विविध प्रकार का अलंकरण किया गया है।
  • कुषाण शासकों के सिक्के, मिट्टी की मुहरें भी यहाँ से उत्खनन में प्राप्त हुई हैं।
  • रंगमहल की प्रमुख उपलब्धि कुषाणकालीन मकान हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रंगमहल_(भीलवाड़ा)&oldid=317793" से लिया गया