एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "१"।

संतोष गंगवार

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
संतोष गंगवार
संतोष गंगवार
पूरा नाम संतोष गंगवार
जन्म 1 नवम्बर, 1948
जन्म भूमि तिओलिया, बरेली, उत्तर प्रदेश
पति/पत्नी सौभाग्य गंगवार
संतान एक पुत्र और एक पुत्री
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि बरेली से लगातार 6 बार लोकसभा सांसद
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
पद राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), श्रम और रोजगार मंत्रालय- 3 सितम्बर, 2017 से 7 जुलाई, 2021 तक

वित्त राज्य मंत्री- 5 जुलाई, 2016 से 3 सितंबर, 2017 तक
कपड़ा राज्य मंत्री- 26 मई, 2014 से 7 जुलाई, 2016

विद्यालय 'रूहेलखंड विश्वविद्यालय' और 'आगरा विश्वविद्यालय'।
जेल यात्रा आपातकाल के दौरान सरकार विरोधी आंदोलन को लेकर जेल जा चुके हैं।
अन्य जानकारी संतोष गंगवार ने बरेली में शहरी सहकारी बैंक लिमिटेड की स्थापना में महती भूमिका अदा की और वर्ष 1996 में वह इसके अध्यक्ष रहे।
अद्यतन‎

संतोष गंगवार (अंग्रेज़ी: Santosh Gangwar, जन्म: 1 नवम्बर, 1948 बरेली, उत्तर प्रदेश) भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ हैं। वह भारत की 17वीं लोकसभा में 'श्रम और रोजगार मंत्रालय' के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे हैं। इससे पूर्व वे सोलहवीं लोकसभा के सांसद एवं केंद्र सरकार में वित्त राज्य मंत्री भी रहे। पूर्व में वे केंद्र सरकार में 'कपड़ा राज्य मंत्री' भी थे। संतोष गंगवार पहले भी अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में 'पेट्रोलियम राज्यमंत्री' रह चुके हैं।

परिचय

पिछले तीन दशक से सामाजिक कार्य और राजनीति में सक्रिय भूमिका निभा रहे भारतीय जनता पार्टी के नेता संतोष गंगवार का जन्म 1 नवंबर, 1948 को उत्तर प्रदेश के बरेली नगर में तिओलिया नामक गाँव में हुआ था। उन्हाेंने अपनी शिक्षा रूहेलखंड विश्वविद्यालय और आगरा विश्वविद्यालय से पूरी की थी।[1]अपनी शिक्षा के अंतर्गत उन्होंने बी.एस.सी तथा एल.एल.बी. की डिग्रियाँ प्राप्त की हैं। उनकी पत्‍‌नी का नाम सौभाग्य गंगवार है। वे एक पुत्र और एक पुत्री के पिता हैं। संतोष गंगवार पिछले तीन दशक से समाज सेवा के अतिरिक्त राजनीति में सक्रिय हैं। उन्होंने बरेली में शहरी सहकारी बैंक लिमिटेड की स्थापना में महती भूमिका अदा की और वर्ष 1996 में इसके अध्यक्ष रहे। उन्हें इतिहास और भूगोल से जुड़ी पुस्तकें पढ़ने का शौक है।

राजनीतिक कॅरियर

लगातार 6 बार लोकसभा चुनाव जीतने वाले संतोष गंगवार देश में आपात काल के दौरान सरकार विरोधी आंदोलन को लेकर जेल भी जा चुके हैं। वह 1996 में उत्तर प्रदेश भाजपा इकाई के महासचिव बनाए गए थे। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में पार्टी इकाई के कार्य समिति के सदस्य भी रह चुके हैं। 13वीं लोकसभा में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बनी सरकार में वह पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री के साथ-साथ संसदीय कार्य राज्य मंत्री का पदभार भी संभाल चुके हैं। इसके अलावा वह विज्ञान एवं तकनीकि राज्यमंत्री भी रह चुके हैं। राजग सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री रह चुके संतोष गंगवार 16वीं लोकसभा में भी सांसद चुने गए थे। वह उत्तर प्रदेश के बरेली से 1989 से चुनाव जीतते आ रहे हैं। हालांकि 15वीं (2009-2014) लोकसभा में उन्हें कांग्रेस के प्रवीण सिंह एरोन के हाथों हार झेलनी पड़ी थी।[2]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 7 बार सांसद रहे गंगवार फिर बने मंत्री (हिंदी) राजस्थान पत्रिका। अभिगमन तिथि: 18 जून, 2014।
  2. संतोष गंगवार : राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) (हिंदी) जागरण डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 18 जून, 2014।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख