गन हिल मसूरी  

गन हिल, मसूरी

गन हिल उत्तराखंड की प्रकृति की गोद में बसे मसूरी शहर में स्थित यहाँ की दूसरी सबसे ऊँची चोटी है।

  • आज़ादी से पहले के वर्षों में इस पहाड़ी के ऊपर रखी तोप प्रतिदिन दोपहर को चलाई जाती थी ताकि लोग अपनी घड़ियों को सैट कर लें, इसी कारण इस स्थान का नाम गन हिल पड़ा गया।
  • गन हिल चहलक़दमी और घुड़सवारी के लिए उपयुक्त 3 किमी लम्बा मार्ग है।
  • गन हिल तक पहुँचने के लिए रोपवे से जाना पड़ता है।
  • रोपवे की लंबाई 400 मीटर है। रोपवे की सैर में इतना रोमांच है की वह यादगार है।
  • रोपवे से जाने के दौरान गहरी खाई और प्रकृति की हरियाली देखने का आनंद ही निराला है।
  • गनहिल से हिमालय की पहाडियों के नज़ारे मन को बहुत आकर्षित करते हैं।
  • गन हिल से हिमालय पर्वत शृंखला अर्थात् बंदरपंच, श्रीकांता, पिठवाड़ा और गंगोत्री समूह आदि के सुंदर दृश्य देखे जा सकते हैं
  • गन हिल पर पहुँचने के बाद शाम के समय लालिमा लिए सूर्य मन को शांति प्रदान करने वाला होता है|
  • गन हिल से मसूरी और दून-घाटी का विहंगम दृश्य भी देखा जा सकते हैं।

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गन_हिल_मसूरी&oldid=349087" से लिया गया