ऊजानी  

ऊजानी ब्रज के ऐतिहासिक ग्रामों में से एक है, जिसका सम्बंध भगवान श्रीकृष्ण से है।

  • यह पयगाँव से चार मील उत्तर-पूर्व में छाता-शेरगढ़ राजमार्ग के निकट स्थित है।
  • श्रीकृष्ण की सुमधुर बाँसुरी की ध्वनि को सुनकर यमुना जी उल्टी बहने लगी थीं। 'ऊजानी' शब्द का अर्थ 'उल्टी बहने' से है। आज भी यह दृश्य यहाँ दर्शनीय है।


इन्हें भी देखें: कोटवन

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ऊजानी&oldid=549993" से लिया गया