}

ब्रह्मघाट  

ब्रह्मघाट कोटवन स्थित एक ऐतिहासिक स्थान है। रामघाट के पास ही अत्यन्त मनोरम ब्रह्मघाट स्थित है। यहीं पर ब्रह्मा जी ने श्रीकृष्ण की आराधना द्वारा बछड़े चुराने का अपराध क्षमा कराया था।


इन्हें भी देखें: कोटवन

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ब्रह्मघाट&oldid=550065" से लिया गया