वर्द्धमान महाराज कुंज वृन्दावन  

  • श्री जी के मन्दिर के सामने मार्ग के दूसरी ओर यह कुंज है।
  • वर्द्धमान (बंगाल) के महाराज श्रीकीर्तिचांद बहादुर की भक्त रानी राजराजेश्वरी देवी ने इस मन्दिर का निर्माण करवाया था।
  • इन्होंने ही नन्दगाँव में पावन सरोवर के घाटों को भी पत्थरों से बँधवाया था।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=वर्द्धमान_महाराज_कुंज_वृन्दावन&oldid=67611" से लिया गया