नगई  

नगई गुलबर्गा ज़िला, महाराष्ट्र में स्थित एक ग्राम है। मालखेड़, सिराम और नगई ग्राम प्राचीन मान्यखेट के स्थान पर बसे हुए हैं। नगई दिगम्बर जैनों का प्राचीन तीर्थ स्थान है।[1]

  • दिगम्बर जैन नगई को अब भी एक पवित्र तीर्थ के रूप में मानते हैं।
  • नगई में 16 नक़्क़ाशीदार स्तम्भों का एक भव्य मण्डप है, जो किसी प्राचीन मन्दिर का प्रवेश द्वार था।
  • इस मन्दिर का आधार ताराकार है, जो चालुक्य वास्तुकला का लक्षण माना जाता है। इसमें काले पत्थर के दो अभिलिखित पट्ट जड़े हैं।
  • मन्दिर के समीप ही हनुमान का मन्दिर है, जिसका सुन्दर दीप-स्तम्भ गर्जराकार बना है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार |पृष्ठ संख्या: 474 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नगई&oldid=344428" से लिया गया