मुम्बई पर्यटन  

मुम्बई विषय सूची
मुम्बई के विभिन्न पर्यटन स्थलों के दृश्य
गेटवे ऑफ इंडिया, मुम्बई
गेटवे ऑफ इंडिया, मुम्बई
मरीन ड्राईव, मुम्बई
मरीन ड्राइव, मुम्बई
हेंगिग गार्डन, मुम्बई
हेंगिग गार्डन, मुम्बई
जोगेश्‍वरी गुफ़ा, मुम्बई
जोगेश्‍वरी गुफ़ा, मुम्बई
फ़्लोरा फ़ाउंटेन, मुम्बई
फ़्लोरा फ़ाउंटेन, मुम्बई
जुहू चौपाटी, मुम्बई
जुहू चौपाटी, मुम्बई
हाजी अली दरगाह, मुम्बई
हाजी अली दरगाह, मुम्बई
माउंट मेरी चर्च, मुम्बई
माउंट मेरी चर्च, मुम्बई
नेहरू प्लेनेटेरियम, मुम्बई
नेहरू प्लेनेटेरियम, मुम्बई
द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय, मुम्बई
द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय, मुम्बई
एलिफेंटा की गुफाएँ, मुम्बई
एलिफेंटा की गुफाएँ, मुम्बई
होटल ताज, मुम्बई
होटल ताज, मुम्बई
नरीमन पाइंट, मुम्बई
नरीमन पाइंट, मुम्बई
कन्हेरी गुफ़ाएँ, मुम्बई
कन्हेरी गुफ़ाएँ, मुम्बई
छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, मुम्बई
छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, मुम्बई

मुंबई शहर, भूतपूर्व बंबई, महाराष्ट्र राज्य की राजधानी है। यह दक्षिण-पश्चिम भारत देश का वित्तीय व वाणिज्यिक केंद्र और अरब सागर में स्थित प्रमुख बंदरगाह है। मुंबई दुनिया के विशालतम व सबसे घनी आबादी वाले शहरों में से एक है। मुम्बई को पहले बॉम्बे के नाम से जाना जाता था। मुम्बई शहर को बिजनेस केपिटल ऑफ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ देश के प्रमुख वित्तीय और संचार केन्द्र है। भारत का सबसे बड़ा शेयर बाज़ार, जिसका विश्व में तीसरा स्थान है मुम्बई में ही स्थित है। मुम्बई भारत के पश्चिमी समुद्रतट पर स्थित है। यह अरब सागर के सात द्वीपों का एक हिस्सा है। मुम्बई सामान्य रूप से सात द्वीपों जिनके नाम कोलाबा, माजागाँव, ओल्ड वूमन द्वीप, वाडाला, माहीम, पारेल और माटूंगा-सायन पर स्थित है। सन् 1661 में इंग्लैंड के महाराजा चार्ल्‍स ने पुर्तग़ाल की राजकुमारी कैटरीना डे ब्रिगेंजा से शादी की थी। शादी में दहेज के रूप में चार्ल्‍स को बम्बई शहर मिला था, जो वर्तमान समय में मुम्बई के नाम से जाना जाता है। लेकिन सन् 1668 में मुम्बई ईस्ट इंडिया कम्पनी के हाथों में चला गया। सन् 1868 में महारानी विक्टोरिया ने शहर के प्रशासन को ईस्ट इंडिया कम्पनी से वापस ले लिया। मुंबई पर्यटन के लिए भी विश्व विख्यात हैं। जहाँ लोग दूर-दूर से घूमने के लिए आते हैं। यहाँ पर कई पर्यटन स्थल है जो इस प्रकार है:-

पर्यटन स्थल

जोगेश्‍वरी गुफ़ा

  • जोगेश्‍वरी की गुफ़ा 1500 साल पुरानी है।
  • जोगेश्‍वरी की गुफ़ा मंदिर में विशाल केंद्रीय हॉल भी है।
  • इसके अतिरिक्त हनुमान, देवी माता, जोगेश्‍वरी और गणेश जी की मूर्तियाँ भी यहाँ स्थित है।

हेंगिग गार्डन

महालक्ष्मी मंदिर

  • यह मंदिर महालक्ष्मी समुद्र के बिल्कुल क़रीब स्थित है।
  • इस मंदिर में तीन बहुत ही सुंदर मूर्तियाँ है।
  • मंदिर के गर्भगृह में महालक्ष्मी, महाकाली एवं महासरस्वती तीनों देवियों की प्रतिमाएँ एक साथ विद्यमान हैं।

गेटवे ऑफ़ इंडिया

  • गेटवे आफॅ इंडिया की रूपरेखा जार्ज विककेट ने तैयार की थी और इसका निर्माण किंग जार्ज और क्वीन मैरी ने 1911 में करवाया था।
  • गेटवे ऑफ़ इंडिया मुम्बई का बहुत ही प्रसिद्ध स्थान है।
  • यह अपोलो बंडर के समीप स्थित है।

फ़्लोरा फ़ाउंटेन

  • फ़ाउंटेन का नाम रोम में समृद्धि के देवता के नाम पर पड़ा था।
  • अब यह फ़ाउंटेन उस क्षेत्र में है, जहाँ महाराष्ट्र राज्य के लिए शहीद होने वालों की याद में स्मारक बनाया गया है।

जुहू चौपाटी

  • जुहू बीच मुम्बई का सबसे प्रसिद्ध बीच है।
  • यह मुम्बई से तीस किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
  • चौपाटी बीच मारीन ड्राईव में स्थित है। यह जगह मुम्बईवासियों की पहली पंसद है।

हाजी अली दरगाह

माउंट मेरी चर्च

  • माउंट मैरी चर्च मुंबई शहर के विशिष्ट और भव्य चर्चों में से एक है।
  • माउंट मैरी चर्च 1640 में बनाया गया था और फिर इसे गिरा दिया गया और 1761 में इसे दुबारा बनाया गया था।

महालक्ष्मी रेस कोर्स

  • महालक्ष्मी रेस कोर्स महालक्ष्मी समुद्र तट के समीप स्थित है।
  • महालक्ष्मी रेस कोर्स विश्‍व के प्रसिद्ध रेस कोर्स में से एक है।

नेहरू प्लेनेटेरियम और विज्ञान केन्द्र

  • नेहरू प्लेनेटेरियम को विज्ञान केन्द्र के नाम से भी जाना जाता है।
  • नेहरू प्लेनेटेरियम वर्ली में स्थित है।
  • नेहरू प्लेनेटेरियम का नाम पंडित जवाहर लाल नेहरू की मृत्यु के बाद रखा गया।

द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय

  • द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय गेटवे ऑफ़ इंडिया से बस थोड़ी सी दूरी पर स्थित है।
  • द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय में शिल्पकला, मूर्तिकला, चाइना और प्राचीन इत्यादि सम्बन्धित बहुमूल्य संग्रह है।

तारापोरवाला एक्वेरियम

  • तारापोरवाला एक्वेरियम मरीन ड्राईव में स्थित है।
  • तारापोरवाला एक्वेरियम में अलग-अलग आकार, प्रकार और रंग की मछलियाँ हैं।

विक्टोरिया गार्डन

  • विक्टोरिया गार्डन में रोचक वनस्पतियों और जीवों का संग्रह है।
  • विक्टोरिया गार्डन वनस्पतिक और प्राणी विज्ञान से सम्बन्धित बगीचा हैं।

एलिफेंटा की गुफाएँ

  • एलिफेंटा की गुफाएँ महाराष्ट्र राज्य के मुंबई शहर से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
  • एलिफेंटा की गुफाएँ मुम्‍बई महानगर के पास स्थित पर्यटकों का एक बड़ा आकर्षण केन्‍द्र हैं।
  • एलिफेंटा की गुफाएँ को घारापुरी के पुराने नाम से जाना जाता है जो कोंकणी मौर्य की द्वीप राजधानी थी।

एसेल वर्ल्‍ड

  • एसेल वर्ल्‍ड गौरी बीच के समीप स्थित है।
  • एसेल वर्ल्‍ड भारत का सबसे बड़ा मनोरंजन पार्क है।

मुंबा देवी मंदिर

  • मुंबा देवी मंदिर लगभग 400 वर्ष पुराना है।
  • मुंबई का नाम ही मराठी में मुंबा आई यानि मुंबा माता के नाम से निकला है।

ताजमहल होटल

  • ताज होटल मुंबई के अपोलो बंडर में स्थीत है।
  • ताज महल होटल 104 साल पुरानी इमारत है।
  • ताज होटल में 565 कमरे हैं।[1]

भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र

  • भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र मुम्बई में स्थित है।
  • यह भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग के अन्तर्गत नाभिकीय विज्ञान एवं अभियांत्रिकी एवं अन्य सम्बन्धित क्षेत्रों का बहु-विषयी नाभिकीय अनुसंधान केन्द्र है।

नरीमन पाइंट

  • नरीमन पॉइंट मुंबई का सबसे प्रमुख व्यापारिक केन्द्र है।
  • इसका यह नाम एक पारसी दूरदर्शक खुर्शीद फ़्राम्जी नरीमन के नाम पर रखा गया।
  • 1995 में यहाँ वाणिज्यिक अचल संपत्ति किराया 8750 रू॰ प्रति वर्ग फुट था।

कन्हेरी गुफ़ाएँ

  • कन्हेरी गुफ़ाएँ मुंबई शहर के पश्चिमी क्षेत्र में बसे बोरीवली के उत्तर में स्थित हैं।
  • ये संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के परिसर में ही स्थित हैं और मुख्य उद्यान से 6 कि.मी और बोरीवली स्टेशन से 7 कि.मी दूर हैं।
  • ये गुफ़ाएँ बौद्ध कला दर्शाती हैं।
  • कन्हेरी शब्द कृष्णागिरी यानी काला पर्वत से निकला है।
  • इनको बड़े बड़े बेसाल्ट की चट्टानों से बनाया गया है।[2]

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस

  • छत्रपति शिवाजी टर्मिनस को पहले विक्‍टोरिया टर्मिनस के नाम से जाना जाता था।
  • छत्रपति शिवाजी टर्मिनस अपने लघु नाम वी.टी., या सी.एस.टी. से अधिक प्रचलित है।
  • यह भारत की वाणिज्यिक राजधानी मुंबई का एक ऐतिहासिक रेलवे-स्टेशन है, जो मध्य रेलवे, भारत का मुख्यालय भी है।
  • यह भारत के व्यस्ततम स्टेशनों में से एक है।
  • आंकड़ों के अनुसार यह स्टेशन ताजमहल के बाद भारत का सर्वाधिक छायाचित्रित स्मारक है।[3]

संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान

  • संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान को बोरीवली नेशनल पार्क और संजय गांधी नेशनल पार्क के नाम से जाना जाता था।
  • जो मुम्‍बई में बोरीवली उप नगर के आस पास स्थित है।
  • इसे 1974 में अधिसूचित किया गया।
  • यह सामान्‍य दर्शनीय स्‍थलों के कारण बड़े शहर का एक आकर्षण बन गया।

माध द्वीप तट

  • माध द्वीप तट भारत के मुम्‍बई शहर के उत्तर पश्चिमी तट के साथ स्थित है।
  • इस तट पर एक अदभूत दृश्‍य दिखाई देता है।

वरसोवा तट

  • वरसोवा तट जुहू तट के उत्तर में स्थित है और ग्रेटर मुम्‍बई ज़िले में आता है।
  • वास्‍तव में वरसोवा तट को जुहू तट का एक विस्‍तार माना जाता है, जिनके बीच केवल एक छोटी सी दरार है।


पीछे जाएँ
मुम्बई पर्यटन
आगे जाएँ


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. बिजनेस केपिटल ऑफ इंडिया (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 18 अक्टूबर, 2010
  2. कन्हेरी की गुफाएं (हिन्दी) वर्डप्रेस। अभिगमन तिथि: 15 अक्टूबर, 2010
  3. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (हिन्दी) अधिकारिक वेबसाइट। अभिगमन तिथि: 18 अक्टूबर, 2010

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मुम्बई_पर्यटन&oldid=605220" से लिया गया