आरारत पर्वत  

Disamb2.jpg आरारत एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- आरारत (बहुविकल्पी)

आरारत पूर्वी तुर्की के आर्मीनिया पठार के एक पर्वत का भी नाम है। यह पर्वत ज्वालामुखी चट्टान (ऐंडीसाइट) द्वारा बना है तथा इसके दो शिखर हैं-बड़ा 'आरारत' (16,916 फुट ऊँचा) तथा छोटा 'आरारत' (12,840 फुट ऊँचा)। यहाँ 14,000 फुट के ऊपर अनेक छोटी हिमनदियाँ मिलती हैं। परंपरागत किंवदंती के अनुसार यह नूह की नौका का विश्रामस्थान था। सन्‌ 1829 ई. में पहली बार इस पर्वत पर आरोहण कर विजय प्राप्त की गई थी।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 1 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 422 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=आरारत_पर्वत&oldid=630968" से लिया गया