पनडुब्बी  

पनडुब्बी (अंग्रेज़ी: Submarine) एक प्रकार का पानी का जहाज या जलयान है। ये समुद्रतल पर और उसके नीचे चल सकने वाला युद्धपोत जो गोलों, तोपों, तारपीड़ो आदि से सज्जित होती है। इसे 'जलाभ्यन्तरवाहिनी नौका' भी कहा जाता है।

  • इसका उपयोग पानी के अन्दर रहकर समुद्री रास्ते से आने वाले दुश्मनों का पता लगाने में किया जाता है।
  • पनडुब्बी का सर्वाधिक उपयोग सेना में किया जाता है। यह किसी भी देश की नौसेना का विशिष्ट हथियार बन गई हैं।
  • पनडुब्बियाँ पहले भी बनायी गईं थीं, लेकिन यह उन्नीसवीं शताब्दी में लोकप्रिय हुई। सबसे पहले प्रथम विश्व युद्ध में इनका प्रयोग किया गया था।
  • विश्व की पहली पनडुब्बी सन 1602 ई. में वैज्ञानिक डच द्वारा यह पानी के भीतर रहते हुए समस्त सैनिक कार्य करने में सक्षम थी, इसके बनने के एक वर्ष बाद ही इसे अमेरिकी क्रान्ति में प्रयोग में लाया गया था।
  • पनडुब्बियों की तकनीक और निर्माण में सन 1620 ई. से अब तक बहुत बदलाव आया है। पहली सैनिक पनडुब्बी टर्टल सन 1775 ई. में बनायी गयी थी।
  • सन 1950 ई. में पहली बार पनडुब्बी को परमाणु ऊर्जा से चलाया गया। इसके बाद समुद्री जल से ऑक्सीजन ग्रहण करने वाली पनडुब्बियों का भी निर्माण किया गया। इन दो महत्वपूर्ण आविष्कारों से पनडुब्बी के निर्माण क्षेत्र में प्रगति हुई। आधुनिक पनडुब्बियाँ कई सप्ताह अथवा महिनों तक पानी के अन्दर रहने में सक्षम हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पनडुब्बी&oldid=564714" से लिया गया