सीस पाल सिंह

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

सीस पाल सिंह (अंग्रेज़ी: Sis Pal Singh) भारत की जाट रेजिमेंट में एक नायक थे। वे पारंपरिक सैन्य परिवार से थे। उनके पिता और दादा दोनों अलवर राज्य बल के अलवर इन्फैंट्री के सूबेदार के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे। सीस पाल सिंह अपनी वीरता के लिए महावीर चक्र से सम्मानित हुए थे।

  • प्रथम विश्व युद्ध के बाद से सीस पाल सिंह के चाचा जाट रेजिमेंट में थे। उनके दादा 1851 और 1871 के बीच जाट रेजिमेंट में सेवारत थे। उनके अपने बेटे जयपाल सिंह जो 1941 में पैदा हुए, कमीशन अधिकारी के रूप में भारतीय सेना में शामिल हुए थे। 1996 में और मेजर जनरल के रूप में 1997 में सेवानिवृत्त हुए। उनका भतीजा 1959 में भारतीय वायुसेना के भर्ती वर्गों में शामिल हुआ और 1984 में एक जूनियर वारंट ऑफिसर के रूप में सेवानिवृत्त हुआ। 1989 में उनके के पोते भारतीय वायु सेना में एक पायलट अधिकारी बने और वर्तमान में एयर कमोडोर के रूप में सेवा कर रहे हैं।
  • सीस पाल सिंह को 1947 के जम्मू-कश्मीर ऑपरेशन में अपनी वीरता के लिए महावीर चक्र से सम्मानित किया गया। वह भारत के हरियाणा के भिवानी जिले में बामला के छोटे से गांव में पैदा हुए थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख