एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "०"।

दलबीर सिंह सुहाग

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
दलबीर सिंह सुहाग
लेफ़्टिनेंट जनरल दलबीर सिंह सुहाग
पूरा नाम दलबीर सिंह सुहाग
जन्म भूमि बिशन ग्राम, झज्जर ज़िला, हरियाणा
पति/पत्नी नमिता सुहाग
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र भारतीय थल सेना
पुरस्कार-उपाधि 'उत्तम युद्ध सेवा पदक', 'परम विशिष्ट सेवा पदक', 'विशिष्ट सेवा पदक' तथा 'अति विशिष्ट सेवा पदक'
नागरिकता भारतीय
सेवा वर्ष 1974 से वर्तमान
उपाधि जनरल
यूनिट 4/5 गोरखा रायफ़ल्स
पूर्वाधिकारी विक्रम सिंह
अन्य जानकारी छ: फुट, दो इंच कद वाले बेहद चुस्त अफ़सरों में गिने जाने वाले 59 वर्षीय जनरल दलबीर सिंह सुहाग का कार्यकाल 30 महीने का होगा।

लेफ़्टिनेंट जनरल दलबीर सिंह सुहाग (अंग्रेज़ी: Dalbir Singh Suhag) भारतीय थल सेना के 26वें थल सेनाध्यक्ष हैं। इन्होंने 31 जुलाई, 2014 को जनरल विक्रम सिंह के सेवानिवृत्त हो जाने के बाद इस पद का दायित्व ग्रहण किया है। जनरल दलबीर सिंह सुहाग 'उत्तम युद्ध सेवा पदक', 'परम विशिष्ट सेवा पदक', 'विशिष्ट सेवा पदक' तथा 'अति विशिष्ट सेवा पदक' से सम्मानित किए जा चुके हैं। 59 वर्षीय जनरल सुहाग भारतीय सेना में एक गुरखा अधिकारी हैं, जिन्होंने 1987 में श्रीलंका में 'भारतीय शांति बहाली बल' (आईपीकेएफ़) अभियान में हिस्सा लिया था।

  • जनरल दलबीर सिंह सुहाग फौजी परिवार से सम्बंध रखते हैं। उनका जन्म हरियाणा के झज्जर ज़िले के 'बिशन' नामक ग्राम में एक जाट परिवार में हुआ था। वे अपने फौजी परिवार में तीसरी पीढ़ी के सिपाही हैं। उनके पिता भी सेना से सूबेदार पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं।[1]
  • जनरल सुहाग की पत्नी नमिता सुहाग हैं, जिन्होंने अपनी स्नातक की परीक्षा 'दिल्ली विश्वविद्यालय' से राजनीति विज्ञान से उत्तीर्ण की थी।
  • दलबीर सिंह सुहाग ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा सैनिक स्‍कूल, चित्तौड़गढ़ से प्राप्त की थी।
  • एन.डी.ए. क्‍वालिफाई करने के बाद वे 1974 में '5 गोरखा राइफल्‍स' की चौथी बटालियन से जुड़े।
  • छ: फुट, दो इंच कद वाले बेहद चुस्त अफ़सरों में गिने जाने वाले 59 वर्षीय जनरल दलबीर सिंह सुहाग का कार्यकाल 30 महीने का होगा।
  • जनरल सुहाग को गत दिसम्बर में भारतीय थल सेना का उप प्रमुख बनाया गया था।
  • इससे पहले, जब जनरल सुहाग को पूर्वी कमान का प्रमुख बनाया जाना था, तब तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल विक्रम सिंह ने उन पर अनुशासनात्मक प्रतिबंध लगा दिया था। जनरल विक्रम सिंह ने पूर्व में असम में एक खुफिया अभियान के सिलसिले में उन पर यह प्रतिबंध लगाया था। हालांकि, मई, 2012 में बिक्रम सिंह ने सेना प्रमुख बनने के तुरंत बाद यह प्रतिबंध हटा दिया था।
  • जनरल दलबीर सिंह सुहाग 1987 में श्रीलंका में भारतीय शांति सेना (आईपीकेएफ) के अभियान में शामिल थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. जानें, कौन हैं जनरल सुहाग (हिन्दी) दैनिक भास्कर। अभिगमन तिथि: 31 जुलाई, 2014।

संबंधित लेख