केशिकत्व  

केशिकत्व से अभिप्राय है कि "किसी ठोस पदार्थ के संपर्क में रहने वाले द्रव की वह क्रिया जिसमें द्रव के अणुओं के एक-दूसरे के प्रति और ठोस के अणुओं के प्रति आकर्षण के फलस्वरूप द्रव का पृष्ठ उठता या गिरता है।"

  • यदि पानी के गिलास में एक पतली खुली नलिका डाली जाए तो केशिकत्व के कारण ही नली में पानी का स्तर गिलास के पानी के स्तर से ऊपर होगा।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. केशिकत्व (हिन्दी) इण्डिया वाटर पोर्टल। अभिगमन तिथि: 28 दिसम्बर, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=केशिकत्व&oldid=515252" से लिया गया