Makhanchor.jpg भारतकोश की ओर से आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ Makhanchor.jpg

क्रोमियम  

क्रोमियम
चमकीली धातु
साधारण गुणधर्म
नाम, प्रतीक, संख्या क्रोमियम, Cr, 24
तत्व श्रेणी संक्रमण धातु
समूह, आवर्त, कक्षा 6, 4, d
मानक परमाणु भार 51.9961g·mol−1
इलेक्ट्रॉन विन्यास 1s2 2s2 2p6 3s2 3p6 3d5 4s1
इलेक्ट्रॉन प्रति शेल 2, 8, 13, 1
भौतिक गुणधर्म
अवस्था ठोस
घनत्व (निकट क.ता.) 7.19 g·cm−3
तरल घनत्व
(गलनांक पर)
6.3 g·cm−3
गलनांक 2180 K, 1907 °C, 3465 °F
क्वथनांक 2944 K, 2671 °C, 4840 °F
संलयन ऊष्मा 21.0 किलो जूल-मोल
वाष्पन ऊष्मा 339.5 किलो जूल-मोल
विशिष्ट ऊष्मीय
क्षमता
23.35

जूल-मोल−1किलो−1

वाष्प दाब
P (Pa) 1 10 100 1 k 10 k 100 k
at T (K) 1656 1807 1991 2223 2530 2942
परमाण्विक गुणधर्म
ऑक्सीकरण अवस्था 6, 5, 4, 3, 2, 1, -1, -2
(अम्लीय आक्साइड)
इलेक्ट्रोनेगेटिविटी 1.66 (पाइलिंग पैमाना)
आयनीकरण ऊर्जाएँ
(अधिक)
1st: 652.9 कि.जूल•मोल−1
2nd: 1590.6 कि.जूल•मोल−1
3rd: 2987 कि.जूल•मोल−1
परमाण्विक त्रिज्या 128 pm
सहसंयोजक त्रिज्या 139±5 pm
विविध गुणधर्म
चुम्बकीय क्रम अंटीफेर्रोचुंबकत्व
वैद्युत प्रतिरोधकता (20 °C) 125 nΩ·m
ऊष्मीय चालकता (300 K) 93.9 W·m−1·K−1
ऊष्मीय प्रसार (25 °C) 4.9 µm·m−1·K−1
ध्वनि चाल (पतली छड़ में) (20 °C) 5940 m.s-1
यंग मापांक 279 GPa
अपरूपण मापांक 115 GPa
स्थूल मापांक 160 GPa
पॉयज़न अनुपात 0.21
मोह्स कठोरता मापांक 8.5
विकर्स कठोरता 1060 MPa
ब्राइनल कठोरता 1120 MPa
सी.ए.एस पंजीकरण
संख्या
7440-47-3
समस्थानिक
समस्थानिक प्रा. प्रचुरता अर्द्ध आयु क्षरण अवस्था क्षरण ऊर्जा
(MeV)
क्षरण उत्पाद
50Cr 4.345% > 1.8×1017y εε - 50Ti
51Cr syn 27.7025 d ε - 51V
γ 0.320 -
52Cr 83.789% 52Cr 28 न्यूट्रॉन के साथ स्थिर
53Cr 9.501% 53Cr 29 न्यूट्रॉन के साथ स्थिर
54Cr 2.365% 54Cr 30 न्यूट्रॉन के साथ स्थिर

क्रोमियम (अंग्रेज़ी:Chromium) एक रासायनिक तत्व है। क्रोमियम की खोज लुईस निकोलस वैक्वेलिन (Louis Nicolas Vauquelin) ने की थी। क्रोमियम का मुख्य खनिज क्रोमाइट, FeCr2O4, है और इसी से क्रोमियम प्राप्त होता है। अन्य अधिक दुर्लभ खनिज क्रोकोआइट, मेलांक्रो आइट क्रोम-ओकर इत्यादि है। यह बहुमूल्य पत्थरों (जो इसके कारण रंगीन होते हैं), उल्का पिंडों तथा जीवों की राख में भी निम्न मात्रा में मिलता है।

प्राप्ति

धातु प्राप्त करने की विधियों में क्रोमियम के ऑक्साइड का उपयोग होता है। 1,5000 सेंटीग्रेड पर ऑक्साइड गरम कर, शुद्ध किया हुआ, सूखी हाइड्रोजन गैस, प्रवाहित करने से अवकरण होता है। ऐलुमिनियम धातु के चूर्ण के उपयोग से धातु प्राप्त करने की गोल्डश्मिट की थमाईट विधि अति उत्तम है। क्रोमिक ऑक्साइड और ऐलुमिनियम चूर्ण का मिश्रण बेरियम परॉक्साइड तथा ऐलुमिनियम अथवा मैग्नीशियम के फ्यूज से प्रज्वलित करने पर तापक्षेपी क्रिया होती है, जिसमें क्रोमियम धातु पिघली हुई अवस्था में प्राप्त होती है।

व्यावसायिक मात्रा में क्रोमियम इसी थर्माइट विधि द्वारा अथवा, विद्युत भट्ठी में सिलिकन द्वारा, ऑक्साइड के अवकरण से प्राप्त होता है। क्रोमियम के लवण के विद्युत विश्लेषण से प्राप्त अमलगम को गरम करने पर शुद्ध क्रोमियम मिलता है। क्रोमियम तथा लोहे की एक उपयोगी मिश्रधातु फेरोक्रोम सीधे क्रोम आयरनस्टोन को कार्बन के साथ विद्युत भट्ठी में गरम कर बनाई जाती है, जो अधिकतर क्रोम इस्पात बनाने में प्रयुक्त होती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=क्रोमियम&oldid=272178" से लिया गया