लैक्टिक अम्ल  

लैक्टिक अम्ल (अंग्रेज़ी: Lactic acid) एक रासायनिक यौगिक है, जो विभिन्न जैव रासायनिक प्रक्रमों में प्रमुख भूमिका निभाता है।

  • इस अम्ल को सर्वप्रथम स्वीडन के रसायन वैज्ञानिक कार्ल विल्हेल्म शीले ने 1780 ई. में विलगित किया था।
  • लैक्टिक अम्ल एक कार्बोक्सिलिक अम्ल है। इसका अणुसूत्र C3H6O3 है।
  • हमें थकान का अनुभव उस समय होता है, जब मांसपेशियों में लैक्टिक अम्ल एकत्र होने लगता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=लैक्टिक_अम्ल&oldid=519603" से लिया गया