रवाकरण  

(अंग्रेज़ी:Crystallisation) किसी पदार्थ को रासायनिक अभिक्रिया या भौतिक उपचार से रवादार ठोस बनाने की क्रिया को रवाकरण कहते है।

विधि

रसायन विज्ञान में रवाकरण विधि के द्वारा अकार्बनिक ठोस मिश्रण को अलग किया जाता है। इस विधि में अशुद्ध ठोस मिश्रण को उचित विलायक के साथ मिलाकर गर्म किया जाता है तथा गर्म अवस्था में ही कीप द्वारा छान लिया जाता है। छानने के बाद विलयन को कम ताप पर धीरे-धीरे ठण्डा किया जाता है। ठण्डा होने पर शुद्ध पदार्थ रवे (क्रिस्टल) के रूप में विलियन से पृथक् हो जाता है। जैसे- शर्करा और नमक के मिश्रण को इथाइल अल्कोहल में 348 केल्विन (K) ताप पर गर्म कर इस विधि द्वारा अलग किया जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रवाकरण&oldid=604879" से लिया गया