एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "२"।

आग़ा ख़ाँ चतुर्थ

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
आग़ा ख़ाँ चतुर्थ

शाह करीम अल हुसैनी, आग़ा ख़ाँ चतुर्थ (अंग्रेज़ी: Shah Karim al-Husayni Aga Khan IV, जन्म- 13 दिसम्बर, 1936) शिया इमामी इस्मायली मुस्लिम के 49वें इमाम हैं। उन्होंने इस उपाधि को 11 जुलाई, 1957 को ग्रहण किया था। उस समय वह मात्र बीस वर्ष के थे और अपने पितामह सर सुल्तान मुहम्मद शाह आग़ा ख़ाँ के उत्तराधिकारी हुए थे।

  • 11 जुलाई, 1957 से 13 दिसंबर, 2008 तक आग़ा ख़ाँ चतुर्थ के इमामत (स्वर्ण जयंती) के शासन काल को 50वीं वर्षगांठ के रूप में चिह्नित किया गया। इस अवसर पर दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों से निज़ारी इस्माइलिस का प्रतिनिधित्व करने वाले नेता इमाम को श्रद्धांजलि देने के लिए आग़ा ख़ाँ के आवास पर एकत्रित हुए थे।
  • राज्य, सरकार और अन्य कुछ नेताओं की दोस्ती व लंबे समय से समर्थन को पहचानने के लिए आग़ा ख़ाँ चतुर्थ और उनके निजारी इस्माइली समुदाय ने स्वर्ण जयंती के हिस्से के रूप में विभिन्न देशों की आधिकारिक यात्राएं कीं। दुनिया के जिन क्षेत्रों का दौरा किया गया, उनमें अमेरिका, यूरोप, एशिया और अफ्रीका शामिल थे।
  • आग़ा ख़ाँ चतुर्थ ने केन्या में एक निज़ारी इस्माइली स्पोर्ट्स मीट का भी आयोजन किया। इस आयोजन में दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों से निज़ारी इस्माइलिस की टीमें खेलने आई थीं।
  • साल 2015 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख