चंपापुर  

चंपापुर या 'चंपापुरी' को चंपा, बिहार के स्थान पर ही बसा माना जाता है। जनरल कनिंघम के अनुसार भागलपुर के समीपस्थ ग्राम चंपानगर और चंपापुर प्राचीन चंपा के स्थान पर ही बसे हुए हैं। चंपा के व्यापारियों ने 'हिन्द-चीन' पहुँचकर वर्तमान अनाम के प्रदेश में 'चंपा' नामक 'भारतीय उपनिवेश' स्थापित किया था। इसमें अनाम का अधिकांश भाग सम्मिलित था।[1]

  • अनाम के उत्तरी ज़िले ‘थान-हो-आ’, ‘नगे आन’ और ‘हातिन्ह’ केवल इसके बाहर थे। इस प्रकार चंपापुरी का विस्तार 14° से 10° उत्तरी देशातंर की बीच में था।
  • दूसरी शती ई. में यहाँ पहली बार भारतीयों ने औपनिवेशिक बस्ती बसाई थी। ये लोग संभवत: भारत की चंपानगरी के निवासी थे।
  • 15 वीं शती तक यहाँ के निवासी पूर्ण रूप से भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता के प्रभाव में थे। इस शती में अनामियों ने चंपा को जीतकर वहाँ अपना राज्य स्थापित कर लिया और भारतीय उपनिवेश की प्राचीन परंपरा को समाप्त कर दिया।
  • चंपा का सर्वप्रथम भारतीय राजा 'श्रीमान' था, जिसका चीन के इतिहास में भी उल्लेख मिलता है।
  • चंपापुरी के वर्तमान अवशेषों में यहाँ के प्राचीन भारतीय धर्म तथा संस्कृति की सुंदर झलक मिलती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 322 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चंपापुर&oldid=290196" से लिया गया