सहसराम  

सहसराम बिहार के शाहाबाद ज़िले में स्थित है। इसका आधुनिक नाम सासाराम है। सहसराम में दिल्ली के सुलतान शेरशाह सूरी (1540-1545 ई.) तथा उसके पिता का मक़बरा स्थित है।

  • शेरशाह का जन्म स्थान सहसराम ही है। उसका मक़बरा एक विस्तीर्ण तड़ाग के अन्दर बना है।
  • यह भवन अठकोण है। इसमें एक बाहरी बरामदा है। गुंबद भीतरी दीवारों पर आधृत है। मक़बरे के चारों ओर एक वर्गाकार चबूतरा है, जिसके कोनों पर छोटे-छोटे मंडप बने हुए हैं। गुंबद के शीर्ष के चतुर्दिक अठकोण स्तंभाकार रचनाएँ हैं, जिससे मक़बरे की बहीरेखा की सुंदरता द्विगणित हो जाती है।
  • सहसराम के पूर्व की ओर चंदनपीर की पहाड़ी की एक गुफ़ा में अशोक का लघु शिलालेख संख्या-1 उत्कीर्ण है।

इन्हें भी देखें: सासाराम


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सहसराम&oldid=505878" से लिया गया