बाबू कृष्णचन्द्र  

बाबू कृष्णचन्द्र (जन्म- 1879, काशी, उत्तर प्रदेश; मृत्यु- 1918) हिन्दी की बहुमूल्य सेवा करने वाले तथा प्रसिद्धि प्राप्त भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के भतीजे थे। ये ‘भारतेन्दु नाटक मंडली’ के संस्थापक थे और आजीवन उसके संरक्षक रहे।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. काशी के साहित्यकार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 11 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बाबू_कृष्णचन्द्र&oldid=436033" से लिया गया