कब देखौंगी नयन वह मधुर मूरति -तुलसीदास  

कब देखौंगी नयन वह मधुर मूरति -तुलसीदास
तुलसीदास
कवि तुलसीदास
जन्म 1532
जन्म स्थान राजापुर, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 1623 सन
मुख्य रचनाएँ रामचरितमानस, दोहावली, कवितावली, गीतावली, विनय पत्रिका, आदि
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची
तुलसीदास की रचनाएँ
  • कब देखौंगी नयन वह मधुर मूरति -तुलसीदास

कब देखौगी नयन वह मधुर मूरति?
राजिवदल-नयन, कोमल-कृपा-अयन,
मयननि बहु छबि अंगनि दूरति॥1॥
सिरसि जटाकलाप पानि सायक चाप
उरसि रुचिर बनमाल मूरति।
तुलसीदास रघुबीर की सोभा सुमिरि,
भई है मगन नहिं तन की सूरति॥2॥


संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कब_देखौंगी_नयन_वह_मधुर_मूरति_-तुलसीदास&oldid=242307" से लिया गया