कुमार ग्राम प्राचीन मन्दिर  

कुमार ग्राम प्राचीन मन्दिर जैन धर्म के प्रसिद्ध मन्दिरों में गिना जाता है। यह जमुई ज़िला, बिहार, पूर्वी भारत में स्थित है। वैसे जमुई ज़िले में जैन धर्म से सम्बन्धित दो प्रसिद्ध मन्दिर हैं- एक कानन में स्थापित 'कुमार ग्राम प्राचीन मन्दिर है तो वहीं दूसरी ओर 'सिकन्दरा का जैन मन्दिर' है।

  • ये दोनों ही मन्दिर जैन धर्म के अनुयायियों के लिए प्रमुख धार्मिक केंद्र के रूप में जाने जाते हैं।
  • यह माना जाता है कि कानन में 9वें तीर्थंकर 'सुविधिनाथ' (पुष्पदन्त) का जन्म हुआ था।
  • इसके साथ ही यह भी माना गया है कि इस जगह पर इंदापी, जिन्हें इंद्रप्रस्थ के नाम से भी जाना जाता था, वहाँ घूमने गए थे।
  • सम्भवत: यही कारण है कि इस स्थान का महत्त्व और भी अत्यधिक हो जाता है।
  • जमुई ज़िले में ही मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर दूर सिकन्दरा में एक जैन मन्दिर और धर्मशाला है।
  • मन्दिर में सारे संसार से जैन समुदाय के लोग आते हैं।
  • इनकी सेवा के लिए धर्मशाला भी है, जो जैन भक्तों की सेवा के लिए तत्पर रहती है।
  • यह मन्दिर भगवान महावीर को समर्पित है, क्योंकि भगवान महावीर की जन्मस्थली बिहार ही है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कुमार ग्राम प्राचीन मन्दिर (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 22 मार्च, 2012।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कुमार_ग्राम_प्राचीन_मन्दिर&oldid=469770" से लिया गया