जैन मंदिर  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
जैन मंदिर, पालीताना, गुजरात

जैन मंदिर जैन समुदाय द्वारा निर्मित मंदिर है। जैन धर्म में मंदिर निर्माण और ग्रंथों का दान पवित्र कार्य माने जाते है। जैनों के अधिकतर गांवों या नगरों में कम से कम एक जैन मंदिर होता है। कुछ तो तीर्थस्थल बन गए हैं। इन मंदिरों की सूचियाँ तैयार की गाई हैं और दैनिक पूजा में प्रमुख मंदिरों की आराधना की जाती है।

भारत के जैन मंदिर

तीर्थंकरों के जीवन की प्रमुख धटनाओं से जुड़े स्थानों को तीर्थस्थलों में परिणत किया गया है। बिहार में पारसनाथ पहाड़ी और राजगीरकाठियावाड़ प्रायद्वीप में शत्रुंजय और गिरनार पहाड़ियाँ ऐसे ही महत्त्वपूर्ण तीर्थस्थालों में शामिल हैं। अन्य मंदिर, जो तीर्थस्थाल बन गए हैं, कर्नाटक में श्रवणबेलगोला, राजस्थान में माउंट आबू व केसरियाजी और महाराष्ट्र के अकोला ज़िले में अंतरिक्ष पार्श्वनाथ हैं।

गुफ़ा में जैन मंदिर

दूसरी सदी ई.पू. के काल के कई गुफ़ा मंदिरों की खोज और खुदाई की गई है। ये गुफ़ा मंदिर उड़ीसा में उदयगिरि और खण्डगिरि; बिहार में राजगिरि; कर्नाटक में ऐहोल; महाराष्ट्र में एलोरा और तमिलनाडु में सित्तन्नावसल में पाए गए हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जैन_मंदिर&oldid=469820" से लिया गया