चंद्रेही  

चंद्रही रीवा ज़िला, मध्य प्रदेश का ऐतिहासिक स्थान है। प्राचीन शैव विहार या मठ के अवशेषों के लिए यह स्थान उल्लेखनीय है।[1]

  • यहाँ निर्मित मंदिर छोटे वर्गाकार पत्थरों से बनाया गया था।
  • मंदिर की ऊपरी सतह के प्रस्तरखंड कोनों पर से तड़क गए हैं, क्योंकि निर्माताओं ने पत्थरों को जोड़ते समय चिनाई के स्वाभाविक विस्तरण के लिए कोई स्थान नहीं छोड़ा था।[2]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 320 |
  2. प्रोग्रेस रिपोर्ट आर्क्योलॉजिकल सर्वे, वेस्टर्न सर्किल, 31 मार्च 1921, पृ. 83-84-85.

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चंद्रेही&oldid=290211" से लिया गया