नीमच  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
नव तोरण मंदिर, नीमच

नीमच मध्य प्रदेश राज्य के मंदसौर ज़िले के पास 500 मीटर की ऊँचाई पर बंजर बैसाल्ट पर्वत चौटी पर स्थित है।

  • ग्वालियर रियासत की पूर्व ब्रिटिश छावनी रहा यह नगर 1822 में संयुक्त राजपूताना-मालवा राजनीतिक एजेंसी का और 1895 में मालवा एजेंसी का मुख्यालय बना।
  • नीमच के पास बारूखेड़ा है, जहाँ विशाल पत्थरों से निर्मित आकर्षक धर्मस्थल है।
  • नीमच के समीप ही प्राचीन बालसहर गाँव में कई जैन मन्दिर हैं।
  • नीमच अजमेर सूबे की सरकार (ज़िला) का एक महल था।
  • यह मूलतः उदयपुर राज्य का हिस्सा था और 1768 ई. में मेवाड़ के राणा द्वारा लिए गए कर्ज़ की अदायगी के रूप में सिंधिया शासकों को दे दिया गया।
  • उसके बाद से यह ग्वालियर राज्य का हिस्सा रहा।
  • 1799 ई. और 1844 ई. में कुछ समय के लिए यह इससे अलग रहा।
  • 1857 के महान् विद्रोह में नीमच छावनी ने महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और यह मालवा में उपद्रव का केन्द्र था।
  • नीमच के दर्शनीय स्थलों में भादवा माता का मंदिर है, जिसमें शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघटा, काली, स्कन्दमाता, और कात्यायनी माता की मूर्तियाँ भी स्थापित हैं।
  • इस मंदिर में काले पत्थर से निर्मित विष्णु की प्रतिमा भी है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नीमच&oldid=391682" से लिया गया