जनकताल  

जनकताल ग्वालियर के बहोड़ापुर में स्थित है, जो लगभग ढाई सौ वर्ष पुराना है। यह सिंधिया राजवंश के जनकोजीराव सिंधिया के नाम पर बनवाया गया था। जनकोजीराव ने वर्ष 1827 से लेकर 1857 ई. तक ग्वालियर पर शासन किया था।

  • जनकताल के एक ओर पाँच बारादरी बनी हुई हैं, जिसमें एक ताल के बीचो-बीच निर्मित है।
  • इस ताल के एक ओर पहाड़ है, जिसकी छाँव ताल के पानी में पड़ती है, जिस कारण दिन में भी शाम का भ्रम होता है।
  • ताल के आस-पास अनेक वृक्ष व झाड़ियाँ उगी हुई हैं। ताल में नीचे जाने के लिए एक जीना लगा हुआ है।
  • जनकताल में साल भर जल रहता है, लेकिन गर्मियों में जल की मात्र बहुत कम रह जाती है।
  • यदि इस ताल की साफ-सफाई व रखरखाव आदि भली प्रकार से किया जाये तो इसको पिकनिक स्थल के रूप में भी विकसित किया जा सकता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जनकताल&oldid=316326" से लिया गया