चौरागढ़  

चौरागढ़ जबलपुर ज़िला, मध्य प्रदेश का ऐतिहासिक नगर है। गढ़मंडला की प्रसिद्ध रानी दुर्गावती के शासन काल में यह राज्य का प्रधान नगर था। सुरक्षा की दृष्टि से राज्य का कोष यहीं रहता था।[1]

  • चौरागढ़ का क़िला रानी दुर्गावती के श्वसुर संग्राम सिंह का बनवाया हुआ था।
  • संग्रामपुर की लड़ाई के पश्चात, जिसमें दुर्गावती ने वीरगति प्राप्त की, मुग़ल बादशाह अकबर के सेनापति आसफ़ ख़ाँ ने चौरागढ़ को घेर लिया।
  • इस युद्ध में दुर्गावती का पुत्र वीरनारायण मारा गया और गढ़ की रानियाँ सती हो गयीं।
  • आसफ़ ख़ाँ ने चौरागढ़ को खूब लूटा, यहाँ से लूट में उसे अनन्त धनराशि प्राप्त हुई थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 346 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चौरागढ़&oldid=528221" से लिया गया