धर्मराजेश्वर मन्दिर  

धर्मराजेश्‍वर मन्दिर मंदसौर, मध्य प्रदेश में स्थित है। यह मन्दिर शैलोत्‍कीर्ण आदर्श की उत्‍कृष्‍ट कृति हैं। 8वीं शताब्‍दी में निर्मित इस मन्दिर की तुलना एलोरा के कैलाश मन्दिर से की जाती हैं, क्‍योकिं धर्मराजेश्‍वर का मन्दिर, कैलाश मन्दिर के समान ही एकाष्‍म शैली में निर्मित हैं।

  • इस मन्दिर के लिए चट्टान को खोखला करके ठोस प्रस्‍तर शिला को देवालय में बदला गया है।
  • अपनी सुन्‍दरता, विशालता और उत्‍कृष्‍टता के लिये धर्मराजेश्वर मन्दिर प्रसिद्ध है, जो 54 मीटर लम्‍बी, 20 मीटर चौडी और 9 मीटर गहरी चट्टान को तराशकर बनाया गया हैं।
  • उत्तर भारत के मन्दिरों की भांति इस मन्दिर में भी द्वार-मण्‍डप, गर्भगृह और शिखर आदि निर्मित हैं।
  • मध्‍य में एक बडा मन्दिर हैं, जिसकी लम्‍बाई 1453 मीटर तथा चौडाई 10 मीटर हैं, जिसका उन्‍नत शिखर आमलक तथा कलश से युक्‍त हैं।
  • इस मन्दिर में महामण्‍डप की रचना उत्कीर्ण की गई है, जो पिरा‍मिड के आकार में है।
  • धर्मराजेश्वर मन्दिर की सुन्‍दर तक्षण कला यहाँ आने प्रत्येक व्यक्ति को पत्‍थर में कविता का एहसास कराती हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=धर्मराजेश्वर_मन्दिर&oldid=281431" से लिया गया